DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तौलने के बाद ही गांधी सेतु से गुजरेंगे बड़े वाहन

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। गांधी सेतु से गुजरने के पहले बड़े वाहनों को वेइंग मशीन (तौल मशीन) से गुजरना होगा। बड़े कॉमिर्शयल वाहनों को तौलने के बाद ही गांधी सेतु से गुजरने की इजाजत दी जाएगी। इसके लिए सेतु से पहले तीन स्थानों पर सरकार वेइंग मशीन लगाएगी। भाजपा के वैद्यनाथ प्रसाद के तारांकित प्रश्न का जवाब देते हुए पथ निर्माण मंत्री राजीव रंजन प्रसाद सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा कि गांधी सेतु पर गुजरने वाले वहनों का वजन नियंत्रित किया जाएगा।

कभी-कभी दस चक्के वाले वाहनों पर भी काफी वजन लोड होता है। लिहाजा अब चक्के की गिनती पर नहीं वजन के आधार पर वाहनों पर रोक लगेगी। पटना के ट्रांसपोर्ट नगर के अलावा मसौढ़ी में वाहनों का वजन कराने के लिए वेइंग मशीन लगाई जाएगी। शनिवार को इस मसले पर विभाग में बैठक हुई थी।

दो दिन में यह पता चल जाएगा कि मशीनें कब तक लग जाएंगी। उन्होंने कहा कि निर्धारित वजन वाले वाहनों को ही रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक सेतु से गुजरने की इजाजत दी जाएगी।

श्री सिंह ने कहा कि वर्तमान में दस से ज्यादा चक्का वाले वाहनों के गुजरने पर रोक है। पहले भी रोक लगी थी, लेकिन कड़ाई से पालन नहीं हो पा रहा था। अब इसके लिएजिंला प्रशासन ने वहां मिजस्ट्रेट के साथ पुलिस बल की तैनाती कर दी है।

लिहाजा 25 सितंबर से बड़े वाहनों का पिरचालन पूरी तरह बंद है। गुरु गोविंद सिंह पथ के लिए जमीन देने वालों को जल्द मुआवजा पथ निर्माण मंत्री ललन सिंह ने कहा कि पटना सिटी के गुरु गोविंद सिंह पथ के लिएजिंन लोगों की जमीन ली गई है, उन्हें जल्द मुआवजा मिलेगा।

भाजपा के सत्येन्द्र नारायण सिंह के अल्पसूचित प्रश्न के जवाब में मंत्री ने कहा कि रेलवे के दक्षिणी छोर वाले जमीन मालिकों को मुआवजा दिया गया है। उत्तरी छोर के कुछ कॉमिर्शयल प्लॉट हैं उनके मालिकों को मुआवजा देने के लिए नए भूमि अधिग्रहण कानून के तहत मूल्यांकन किया जा रहा है। प्रक्रिया पूरी होते ही भुगतान किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तौलने के बाद ही गांधी सेतु से गुजरेंगे बड़े वाहन