अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ललित की हत्या ने राज्य को झकझोरा

सूचना अधिकार एवं नरगा पर काम करनेवाले सामाजिक कार्यकर्ता ललित कुमार मेहता की पलामू के छतरपुर में हुई हत्या की गूंज अब दिल्ली में भी सुनाई दे रही है। झारखंड पुलिस ने इसे एक सामान्य घटना करार दिया। अपनी जांच के दायर को उसी के इर्द-गिर्द समेटने की कोशिश की थी। लेकिन प्रशासन को पता चल गया है कि यह कोई छोटी घटना नहीं है। ललित मेहता के कारण कई सफेदपोश बेपर्द हो सकते थे। वह सूचना के अधिकार और नरगा की सोशल ऑडिट टीम के सक्रिय सदस्य थे। प्रस्द्धि अर्थशास्त्री प्रो. ज्यां द्रेज के वह अनन्य सहयोगी भी थे। इसबीच, ज्यांद्रेज ने कहा है कि नरेगा का सामाजिक अंकेक्षण करना ललित कुमार मेहता को महंगा पड़ा। उनकी हत्या एक सुनियोजित साजिश है। वह जिले में नरगा के क्रियांवयन से खुश नहीं थे। उन्होंने कहा कि नरेगा के नाम पर इतना पैसा आ रहा है आखिर यह जा कहां जा रहा है। यहां पर जांच के क्रम में कुछ सबूत मिले हैं। इसको सामाजिक अंकेक्षण द्वारा उजागर किया जायेगा।ड्ढr इन लोगों ने हत्या के खिलाफ राज्यव्यापी आंदोलन और विरोध प्रदर्शन का निर्णय लिया है। एसडीसी सभागार में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में झारखंड, बिहार और दिल्ली से आये जनसंगठन सदस्यों ने ललित कुमार मेहता को श्रद्धा सुमन अर्पित किये। प्रतिनिधियों ने शोक संवेदना प्रकट करते हुए ग्राम स्वराज अभियान के जनांदोलन को आगे जारी रखने का प्रण किया। कार्यक्रम में सदस्यों की ओर से मेहता के परिवार के नाम से ट्रस्ट खोलने, हत्यारों की गिरफ्तारी, पलामू में 26 को आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम के लिए लोगों को इकट्ठा करना, बड़े पैमाने पर धरना प्रदर्शन और विरोध प्रकट करने का प्रस्ताव रखा गया। श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए आद्री से पीएन सिंह, प्रिया से राजपाल, ग्राम स्वराज अभियान के गोपीनाथ और दिनेश मुमरू, एक्शन एड दिल्ली से किरण, पटना से विनय ओहदार ने समवेत स्वर में कहा कि उनके द्वारा चलाये जा रहे सोशल ऑडिट को जारी रखा जायेगा। सभा में उपस्थित लोगों ने सरकार से मांग की कि राज्य सरकार ऐसे लोगों को पूर्ण सुरक्षा और सहयोग दे, जो जनमुद्दों पर कार्य करते हैं।ड्ढr ज्यांद्रेज की सुरक्षा के लिए पतड्र्ढr नरगा के कार्यो को छतरपुर (पलामू) में अध्ययन करने आये प्रसिद्ध अर्थशास्त्री ज्या द्रेंज को समुचित सुरक्षा मुहैया कराने की बाबत छत्नपुर एसडीओ ने पलामू डीसी को पत्र लिखा है।ड्ढr पत्र में 14 मई को सामाजिक कार्यकर्ता ललित मेहता के बाद उत्पन्न परिस्थितियों का भी जिक्र है।ड्ढr ड्ढr ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ललित की हत्या ने राज्य को झकझोरा