DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी का एक्सल लटका, दुर्घटनाग्रस्त होते बची

कानपुर। प्रमुख संवाददाता। सेंट्रल स्टेशन पर टीएक्सआर दल की सक्रियता के चलते भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई। सूचना पर इंजीनियरिंग टीम पहुंच गई। कोच का हाट एक्सल गर्म होकर लाल पड़ गया और टूटकर लटकने लगा था। आनन-फानन में क्षतिग्रस्त धुरे को बदला गया। प्रारंभिक जांच में पता चला कि ट्रेन 25 मिनट और चलती तो धुरा चक्कों में फंस जाता और कोई भी दुर्घटना हो सकती थी।

इस चक्कर में राजधानी एक्सप्रेस सेंट्रल स्टेशन पर 26 मिनट तक खड़ी रही। धुरा जाम होने के मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। हुआ यूं कि सोमवार सुबह करीब 5:30 बजे राजधानी प्लेटफार्म नंबर दो पर आकर रुकी। टीएक्सआर दल कोचों के चक्कों को चेक कर रहा था। इस बीच बी-8 कोच के पास टीएक्सआर दल पहुंचा तो उसका एक्सल टूटकर लटक रहा था। एक्सल लटकते देख टीएक्सआर दल घबड़ा गया और कंट्रोल से रेलवे अफसरों को सूचना दी।

मौके पर पहुंची इंजीनियरिंग टीम के बीच हड़कंप मचा। आनन-फानन में एक्सल को बदला गया। इसके बाद ट्रेन सुबह लगभग छह बजे दिल्ली की ओर रवाना हो सकी। इस चक्कर में अफसरों के बीच हड़कंप मचा रहा।

घबड़ाए यात्री, प्लेटफार्म पर उतरेः ट्रेन के करीब आधे घंटे खड़े रहने और रिपेयरिंग काम देख रहे बी-8 कोच के यात्रियों को जब पता चला तो वे लोग घबड़ा से गए। कुछ दिन पहले ही डबि्रूगढ़ राजधानी दुर्घटनाग्रस्त हुई थी। कई यात्री एक्सल बदलने के बाद भी कर्मचारियों से बार-बार पूछ रहे थे कि अब सब कुछ ठीक है।

दहशत का अंदाजा इसी से लगा कि एक्सल बदलने के पांच मिनट तक यात्री कूपे में चढ़े नहीं। इस कारण ट्रेन और देर तक खड़ी रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजधानी का एक्सल लटका, दुर्घटनाग्रस्त होते बची