DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिश्वत मामले में आेल्मर्ट की याचिका खारिज

इजरायल के प्रधानमंत्री एहुद आेल्मर्ट को भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में राहत मिलती नहीं दिख रही है। अमेरिका के एक व्यवसायी से रिश्वत लेने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उनकी अर्जी खारिज कर दी है, जिसके बाद उन्हें प्रधानमंत्री की कुर्सी भी छोड़नी पड़ सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखा, जिसके तहत तलांस्की के अमरीका लौटने से पहले उसकी गवाही लेने की बात कही गई थी। आेल्मर्ट के वकीलों ने उच्चतम न्यायालय से निचली अदालत के इस फैसले को रद्द करने की गुहार की थी। तीन न्यायाधीशों की पीठ द्वारा फैसले सुनाए जाने के पहले पुलिस ने कहा कि वह श्री आेल्मर्ट से दूसरी बार शुक्रवार को पूछताछ कर सकती है। उच्चतम न्यायालय ने अपने फैसले में कहा कि निचली अदालत के फैसले को पलटने का कोई सवाल ही नहीं पैदा होता। हालांकि आेल्मर्ट ने यह स्वीकार किया था कि उन्होंने अमेरिकी व्यवसायी से 1और 1में यरुशलम के मेयर के लिए दो सफल चुनाव अभियान के लिए धन लिया था, लेकिन उन्होंने इसका किसी तरह के दुरुपयोग से साफ इनकार किया था। उन्होंने दोषी पाए जाने पर अपने पद से इस्तीफा देने की भी बात क ही थी। प्रधानमंत्री से पहली बार गत दो मई को पूछताछ करने वाली पुलिस का कहना है कि आेल्मर्ट ने तलांस्की के हाथों नकदी से भरे लिफाफे स्वीकार किए थे। शीर्ष के अदालत के फैसले के बाद सरकारी वकील इस मामले में यरुशलम की जिला अदालत में गवाही देने के लिए तलांस्की को सम्मन भेजेंगे। न्यूयार्क का मूल निवासी तलांस्की फिलहाल इजरायल दौरे पर है और अगले हफ्ते उसके अमेरिका लौटने की योजना है। इजरायली रेडियो के मुताबिक तलांस्की को रविवार को जिला अदालत में पेश किया जाएगा। आेल्मर्ट के खिलाफ शीर्ष अदालत के फैसले के बाद इजरायल में प्रधानमंत्री पद के लिए चुनाव की संभावना प्रबल हो गई है। इजरायल के कानून के तहत चुनाव अभियान के लिए कुछ सौ डालर से अधिक की रकम लेने पर पाबंदी है। न्यायिक सूत्रों ने बताया कि आेल्मर्ट द्वारा ली गई रकम हजारों डॉलर के करीब हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रिश्वत मामले में आेल्मर्ट की याचिका खारिज