अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शख्स जिसने ढूंढ निकाला चेचर का इतिहास

अवस्था 85 वर्ष और पिछले 16 वर्षो से दोनों आंखों की रोशनी साथ छोड़ चुकी है। सहारे के लिए मात्र एक छड़ी। देखकर कोई कह नहीं सकता कि ग्रामीण परिवेश में पले-बढ़े इस शख्स ने वह कारनामा कर दिखाया है जिसकी प्रशंसा इंदिरा गांधी तक कर चुकी हैं और पूर्व मुख्यमंत्री दीपबाबू इनकी लगनशीलता के कायल रह चुके हैं।ड्ढr ड्ढr हाजीपुर जिला मुख्यालय से करीब बीस किलोमीटर दूर चेचर गांव के प्रसि पुरातत्ववेत्ता राम पुकार सिंह के बारे में जिन्होंेने अपनी पुरातात्विक सूझ-बूझ के कारण चेचर ग्राम समूह को विश्व के मानस पटल पर रेखांकित कराया। पुरातत्व विभाग को जब इसकी जानकारी मिली तो वैशाली का समग्र इतिहास ही बदलता दिखाई देने लगा। बचपन के वें वसंत से ही पुरातात्विक साक्ष्यों के प्रति अभिरुचि ने हृदय में ऐसी पैठ बनाई कि देखते ही देखते 85 वर्ष की उम्र हो आई। इस बीच उन्होंने इतिहास के कई काल खंडों के करीब चार हजार पुरातात्विक साक्ष्य खोज डाले। उनमें से कई साक्ष्य ऐसे भी हैं जो विश्व में अपने आप में अकेले हैं। अब भी जबर्दस्त याद के धनी राम पुकार सिंह ने बताया कि पुरातात्विक साक्ष्यों के प्रति उनका विशेष लगाव बिहार के जे पी आंदोलन के समय बना। पुलिस से बचते फिर रहे श्री सिंह ने गंगा और गंडक के किनारे व आसपास के क्षेत्रों के कई दुर्लभ साक्ष्य खोज निकाले।ड्ढr ड्ढr ग्रामीणों के सहयोग से 1में इन्होंने 500 सोने के सिक्के जिनका वजन 15 किलो था खोजे थे। देश के प्रति इनकी निष्ठा तो देखिए, इन्होंने सोने के सिक्कों को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को डोनेट कर दिया। उस समय देश-विदेश की मीडिया के बीच यह काफी लोकप्रिय हुए थे। 16 नवम्बर 1में पुरातत्व के क्षेत्र में इन्हें विशेष सराहना मिली। 2001-02 के आसपास केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने चुने गए साक्ष्यों के आधार पर ही एक संग्रहालय के निर्माण के लिए पांच लाख रुपए दिए थे।ड्ढr ड्ढr महज दसवीं की परीक्षा पास कर राम पुकार सिंह पुरातत्व संग्रह के क्षेत्र में तत्परता से जुड़े रहे। उनका मानना है कि चेचर ग्राम समूह में करीब 28 गांव आते हैं और सबके सब ऐतिहासिक साक्ष्यों से भरे पड़े हैं। प्रशासनिक उदासीनता से नाराज इस बुजुर्ग का कहना है कि बिहार सरकार ने संग्रहालय के लिए स्वीकृति तो दे दी है लेकिन प्रशासनिक उदासीनता की वजह से इस क्षेत्र में कोई व्यापक सुधार नहीं हो रहा है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शख्स जिसने ढूंढ निकाला चेचर का इतिहास