अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफचाल और सरबजीत को एक तराजू में तौला

ेन्द्रीय गृह मंत्री शिवराज पाटील के एक बयान से देश की राजनीति गरमाने के आसार हैं। पाटील ने बुधवार को कहा कि जब सरकार सरबजीत सिंह को फाँसी से बचाने के लिए कोशिश कर रही हो तो संसद पर हमले के दोषी अफाल गुरु को फाँसी देने की माँग किस तरह की जा सकती है। उन्होंने एक टीवी चैनल से यह भी कहा कि पोटा जसा कोई कानून सरकार बनाने नहीं जा रही है।ड्ढr यहाँ मंगलवार को पत्रकारों से बात करते हुए पाटील ने कहा कि आप चाहते हैं कि अफाल गुरु को फाँसी दी जाए, लेकिन साथ ही आप यह भी कह रहे हैं कि पाकिस्तान गए एक व्यक्ित को मौत की सजा न मिले। उन्होंने कहा कि ये लोग चाहते हैं कि दूसरा फाँसी पर चढ़ जाए। उन्होंने पूछा, ‘आप क्या कर रहे हैं?’। अफाल को सुप्रीम कोर्ट ने संसद पर हमले की साजिश रचने के मामले में सजा-ए-मौत दी है और उसकी दया याचिका फिलहाल सरकार के पास लंबित है।ड्ढr भाजपा के प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर ने पाटील के इस बयान पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार इस तरह के ऊल-ाुलूल तर्क देकर वोट बैंक की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री क्या यह नहीं जानते कि सरबजीत सिंह को गलत पहचान की वजह से सजा दी जा रही है, जबकि अफाल, संसद पर हमले में दोषी पाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अफचाल और सरबजीत को एक तराजू में तौला