DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक से बनने लगी बात

भारत और पाकिस्तान के संबंधों में बुधवार को बात बनती नजर आई। पाकिस्तान ने कहा कि भारत से मिलकर वह आतंकवाद से लड़ेगा। साथ ही उसने कश्मीर मसला सुलझाने के लिए किसी नए प्रस्ताव पर विचार करने और नियंत्रण रखा पर संघर्ष विराम कायम रखने का वादा भी किया। यह भी घोषणा की गई कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इस साल पाकिस्तान दौर पर जाएँगे। इस बीच, श्रीनगर में हुर्रियत कांफ्रेंस ने दोनों देशों को सुझाव दिया कि वे जम्मू-कश्मीर में ही बैठकर राज्य के लोगों से बातचीत कर कश्मीर मसले का हल निकालें।ड्ढr विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी और पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने लंबी बातचीत के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए आतंकवाद को साझा खतरा बताया। कुरैशी ने कहा कि उनका देश इससे लड़ने के लिए भारत के साथ मिलकर काम करगा। इसके लिए संयुक्त तंत्र को लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कश्मीर, सियाचिन और सर क्रीक मसलों के हल पर काफी प्रगति हुई है। दोनों देश भरोसा बहाली के उपायों को और आगे ले जाएँगे। दोनों पक्षों ने एक समझौते पर भी हस्ताक्षर किए हैं, जिसके तहत एक-दूसर के कैदियों से उच्चायोग के अधिकारियों को मिलने दिया जाएगा।ड्ढr घुसपैठ के बार में कुरैशी का कहना था कि आपसी हित में इन्हें रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि हम बातचीत के जरिए सभी मुद्दों का हल निकालना चाहते हैं, लेकिन यह सम्मानजनक होना चाहिए। कश्मीर के बार में उनका कहना था कि पाकिस्तान, संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव और कश्मीरियों की इच्छा के अनुरूप ही इसका समाधान चाहता है, लेकिन किसी भी प्रस्ताव पर वह खुले दिमाग से विचार करगा। दोनों विदेश मंत्रियों ने ईरान-पाक-भारत गैस पाइपलाइन पर भी चर्चा की। इससे पहले प्रणव ने राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ से मुलाकात की। इस दौरान मुशर्रफ ने कहा कि उनका देश बातचीत के जरिए ही कश्मीर समेत अन्य मसलों का हल चाहता है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक से बनने लगी बात