DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवादित प्रश्न पत्र जांच कमेटी ने रिपोर्ट सौंपी

रांची यूनिवर्सिटी के पीजी पार्ट-2 हिस्ट्री के 11वें पत्र में पूछे गये आपत्तिजनक प्रश्न की जांच के लिए गठित उच्च स्तरीय कमेटी ने रिपोर्ट राज्यपाल सह कुलाधिपति सैयद सिब्ते राी को सौंप दी है।ड्ढr कमेटी के अध्यक्ष अमित खर ने राजभवन में 21 मई को 35 पेज की जांच रिपोर्ट सौंपी। मौके पर राज्यपाल ने कहा कि वह जांच रिपोर्ट का अध्ययन करंगे। इसके बाद आवश्यक कार्रवाई होगी। खर ने कहा कि समिति ने विवादित प्रश्न पत्र मामले की जांच के साथ परीक्षा प्रणाली के सुधार के सुझाव भी रिपोर्ट में शामिल किये गये हैं। जांच के क्रम में प्रश्न पत्र चयनकर्ता द्वारा दी गयी पांडुलिपि, परीक्षा विभाग की संचिकाओं एवं अभिलेखों आदि की जांच की गयी। साथ ही यूनिवर्सिटी द्वारा दिये गये 24 बिंदुओं पर रिपोर्ट की भी समीक्षा की गयी। जांच के दौरान रांची यूनिवर्सिटी के माध्यम से प्रश्न पत्र चयनकर्ता द्वारा दिये स्पष्टीकरण और इतिहास के विशेषज्ञों की राय पर भी विचार किया गया।ड्ढr परीक्षा प्रणाली में सुधार के लिए मांगे गये सुझावों के आलोक में कुल 47 सुझाव कमेटी को प्राप्त हुए। इनमें 20 एचओडी एवं डीन, 22 प्राचार्य, दो यूनिवर्सिटी के अधिकारी और तीन छात्र प्रतिनिधियों के सुझाव शामिल थे। इन पर भी गंभीरता से विचार कर भविष्य में सुधार की अनुशंसा दी गयी हैं। इस अवसर पर कमेटी के सदस्य रांची विवि के पूर्व प्रोवीसी डॉ एमके हसन, एसके मुमरू यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ विक्टर तिग्गा, सीआइपी के निदेशक डॉ एस हक निजामी एवं बीआइटी मेसरा के परीक्षा नियंत्रक डॉ एसके जन भी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विवादित प्रश्न पत्र जांच कमेटी ने रिपोर्ट सौंपी