DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक शांति वार्ता को प्रतिबद्ध: मुशर्रफ

विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने बुधवार को पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ से मुलाकात कर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय सबंधों और समग्र बातचीत में हुई प्रगति पर विस्तार से चर्चा की। बातचीत के दौरान राष्ट्रपति मुशर्रफ ने कहा कि पाकिस्तान शांति वार्ता को लेकर प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान बातचीत के द्वारा दोनों देशों के बीच लंबित सभी मुद्दों को सुलझाना चाहता है। मुशर्रफ ने कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की गंभीरता का जिक्र करते हुए कहा कि इस मसले के समाधान के लिए कश्मीरी जनता की भावनाओं को खारिा नहीं किया जा सक ता है। दोनों नेताओं के बीच करीब आधे घंटे तक चली इस बैठक में किन विषयों पर चर्चा हुई इस बारे में आधिकारिक रूप से कोई जानकारी तो नहीं दी गई लेकिन विश्वस्त सूत्रों से ने बताया कि मुखर्जी ने मुशर्रफ को शांति वार्ता की प्रक्रिया आगे बढ़ाने की भारत की इच्छा से अवगत कराया। यह बैठक पहले राष्ट्रपति के रावलपिंडी स्थित सैन्य छावनी कार्यालय में होने वाली थीड्ढr लेकिन किन्ही कारणों से आखिरी वक्त पर इसके स्थान में परिवर्तन कर दिया गया और बैठक राष्ट्रपति के इस्लामाबाद स्थित कार्यालय में हुई।ड्ढr ड्ढr पाक की गोलीबारी पर भारत का कड़ा विरोधड्ढr जम्मू(प्रेट्र)। भारतीय सेना ने बुधवार को अपने पाकिस्तानी समकक्षों के साथ सोमवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में हुई गोलीबारी के मुद्दे पर कड़ा विरोध जताया। यह विरोध इस्लामाबाद द्वारा संघर्षविराम के वादे पर कायम रहन के प्रति आश्वासन के बाद आया है। रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट एसडी गोस्वामी ने बताया कि पुंछ जिल के मेंढरड्ढr सेक्टर में नियंत्रण रेखा के निकट रोशनी सीमा चौकी पर एक बैठक हुई। इसमें संघर्षविराम समझौत का उल्लंघन और सोमवार की गोलीबारी की घटना के संबंध में चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना के अधिकारियों को औपचारिक विरोधपत्र सौंपा गया। भारत ने पाकिस्तान की ओर से सोमवार को गोलीबारी की घटना के बाद विरोध जतान के लिए यह बैठक बुलाई थी। यह विरोध ऐसे समय व्यक्त किया गया है जब भारत और पाकिस्तान ने समग्र वार्ता प्रक्रिया की शुरुआत की है। इस्लामाबाद में पिछले महीने नई सरकार बनन के बाद पहली बार उच्चस्तरीय वार्ता हो रही है।ड्ढr ड्ढr विदेश सचिव शिवशंकर मेनन ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष सलमान बशीर के साथ मंगलवार को बातचीत के बाद कहा था कि दोनों पक्षों ने स्पष्ट कर दिया है कि वे युविराम समझौत को काफी महत्वपूर्ण मानते हैं और वे इस कायम रखना चाहते हैं। सेना के अधिकारियों के बीच करीब आधा घंटे की बैठक के दौरान भारत ने धिप चौकी पर सीमा पार से गोलीबारी के बारे में पाकिस्तानी अधिकारियों को विस्तृत जानकारी दी। इसमें एक जवान की मौत हो गई थी। गोस्वामी न कहा कि भारतीय अधिकारियों ने इस बैठक में अपने पाकिस्तानी समकक्षों को युविराम समझौत के उल्लंघन के प्रमाणों के बारे में भी जानकारी दी।ड्ढr ड्ढr कर्नल मनीष कुमार ने इस बातचीत में भारत का नेतृत्व किया जबकि पाकिस्तानी पक्ष का नेतृत्व कर्नल एस़ मलिक ने किया। गोस्वामी न कहा कि सोमवार को पाकिस्तानी सेना ने भारतीय चौकी पर राकेट और ग्रेनेड के जरिए हमला किया जिसमें गोरखा राइफल्स के एक जवान यशवंत राई की मौत हो गई। एक पखवाड़े से भी कम समय में तीसरी बार शांति समझौत का उल्लंघन हुआ है। पाकिस्तानी सेना ने मई को सांबा सेक्टर में बीएसएफ की एक चौकी पर हमला किया था। पांच दिन बाद कुपवाड़ा की तांगेधर बेल्ट में हमला हुआ। संघर्षविराम समझौता 16 नवंबर 2003 को प्रभाव में आया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक शांति वार्ता को प्रतिबद्ध: मुशर्रफ