अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शरीया कानून पर दस्तखत करें जरदारी: फजलुल्लाह

पाकिस्तान में स्वात घाटी के तालिबान कमांडर मौलाना फजलुल्लाह ने कहा है कि यदि राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी निजाम-ए-अदल कानून पर हस्ताक्षर कर दें तो वह शांति समझौते पर कायम रहेगा और हथियार डाल देगा। ‘दि न्यूज’ की एक रिपोर्ट के अनुसार स्वात घाटी में एफएम रेडियो स्टेशन चलाने वाला और इलाके में मुल्ला रेडियो के नाम से मशहूर फजलुल्लाह ने शनिवार को 20 सदस्यीय जिरगा की बैठक में जरदारी से आग्रह किया कि वह शरीया कानून लागू करने के आदेश पर तुरंत दस्तखत करें और काजियों को न्याय के लिए अधिकृत करें ताकि स्थाई शांति कायम करें। उसने कहा कि वह शांति समझौते का सम्मान करेगा और स्थिति को और नहीं बिगड़ने देगा। भले ही तंजीम निफाज शरीयत-ए-मोहम्मदी के मुखिया मौलाना सूफी मोहम्मद शांति शिविर खत्म कर दें। मुल्ला रेडियो ने इसी के साथ धमकी भी दी कि पाकिस्तान उनका देश है तथा उसकी रक्षा करना उनका फर्ज है, लेकिन निजामे अद्ल पर दस्तखत नहीं किए तो स्थिति बिगड़ने की जिम्मेदारी उनकी नहीं होगी। सूफी मोहम्मद ने मलाकंद एजेंसी क्षेत्र में भी शरीय कानून लागू करने की मांग की है। उसने कबीलाई सरदारों के साथ बैठक में शरीया और अमन की उसकी मुहिम को समर्थन देने की अपील की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शरीया कानून को मंजूरी दें जरदारी: फजलुल्लाह