अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएमसीएच के जूनियर डाक्टर हड़ताल पर

पीएमसीएच के इमरजेंसी विभाग में गुरुवार को एक मरीज की मौत के बाद चिकित्सकों और परिजनों के बीच मारपीट के बाद जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले गए। डॉक्टरों के साथ मारपीट के आरोप में दो परिजनों को पीरबहोर पुलिस को सौंप दिया गया। जूनियर डॉक्टरों ने अस्पताल के अधीक्षक को लिखित सूचना दी है कि वे शुकक्रवार की सुबह 7 बजे तक सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे। महाराजाहाता,बक्सर के निवासी 77 वर्षीय शिवकुमार मिश्रा की मृत्यु दोपहर के 2.20 बजे हो गई। उनके पुत्र मनोज मिश्रा ने बताया कि बुधवार को कैथेटर लगाने के बाद मूत्र मार्ग से रक्तस्रव होने लगा। गुरुवार के दोपहर 12 बजे के बाद मरीज की हालत गंभीर हो गयी मगर डाक्टरों ने लापरवाही बरती।ड्ढr ड्ढr इलाज के लिए चिकित्सक से बार-बार अनुरोध किया जाता रहा। दोबारा जाने पर डॉक्टरों ने मरीज का पुर्जा फेंक दिया। जब मरीज की मरने की स्थिति पहुंची तो अन्तिम बार डॉक्टरों से देखने का अनुरोध किया गया। इसके बाद चिकित्सकों ने बदतमीजी की । विरोध करने पर गार्डो के साथ मारपीट कर मनोज मिश्रा के साथ उनके चचेर भाई अरुण कुमार मिश्रा को थाने को सौंप दिया। इधर चिकित्सकों का कहना है कि मरीज को डॉक्टर द्वारा कई बार देखा गया। मरीज की स्थिति गंभीर थी। चिकित्सा जारी थी। मरीज के परिजन इतने उत्तेजित थे कि उन्होंने एक समूह के साथ आकर ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर का कॉलर पकड़कर चांटा मारा और घसीटते हुए मरीज के बेड तक ले गए। परिजन और जूनियर डॉक्टरों के बीच मारपीट के बाद जूनियर डॉक्टर सुरक्षा की मांग को लेकर ड्यूटी छोड़कर चले गए। अस्पताल के अधीक्षक डा.ओ.पी.चौधरी सहित सभी प्रशासनिक पदाधिकारी इमरजेंसी की स्थिति को संभालने में लगे हुए थे। अधीक्षक ने कहा कि जूनियर डॉक्टरों को मना लिया जाएगा। जूनियर डॉक्टरों के ड्यूटी से चले जाने पर मरीजों में अफरा-तफरी मच गयी। कई मरीजों का ऑपरशन स्थगित कर दिया गया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीएमसीएच के जूनियर डाक्टर हड़ताल पर