DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऊचरा क्षेत्र में आदर्श राज्य होगा बिहार

पावरग्रिड के सीएमडी डॉ. आर.पी. सिंह ने कहा है कि बिहार ‘डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम’ का ‘मॉडल स्टेट’ बनेगा। यही नहीं ऊर्जा प्रक्षेत्र में सुधार के लिए बिहार आदर्श राज्य भी होगा। पटना के गौरीचक में विद्युत उपकेन्द्र के उद्घाटन के बाद वे पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने विशिष्ट परीक्षण प्रयोगशाला की आधारशिला भी रखने के बाद आरा-सासाराम रोड पर जीरो माइल के निकट एकौना में विद्युत उपकेन्द्र का भी उद्घाटन किया। पावरग्रिड बिहार में 6 हजार करोड़ रुपए से अधिक का काम कर रहा है।ड्ढr ड्ढr डॉ. सिंह ने बताया कि ग्रामीण विद्युतीकरण के क्षेत्र में भी बिहार में काफी अच्छा काम हो रहा है। 18 हजार गांवों के लक्ष्य की जगह अबतक 12 हजार गांवों का विद्युतीकरण हो चुका है। राजधानी पटना के वीआईपी क्षेत्र में चल रहे अंडरग्राउंड केबलिंग के काम पर भी उन्होंने संतोष व्यक्त किया और कहा कि 70 फीसदी काम पूरा हो चुका है और अगले वर्ष जनवरी तक यह काम हर हाल में पूरा हो जाएगा। यही नहीं, अबतक 50 हजार बीपीएल परिवारों को बिजली कनेक्शन दिया जा चुका है जबकि अगले एक वर्ष के अंदर सभी बीपीएल परिवारों को बिजली कनेक्शन दे दिया जाएगा।ड्ढr ड्ढr डॉ. सिंह को इस बात का बेहद मलाल है कि 11 वर्षो तक पावरग्रिड के सर्वोच्च पद पर आसीन होने और एक बिहारी होने के बावजूद बिहार में पावरग्रिड का ऑफिस नहीं बनवा सके। उनका दावा था कि पावरग्रिड का ऑफिस ‘फाइव स्टार’ होटल से बेहतर होता है। बिहार में लंबी मशक्कत के बावजूद इसके लिए उन्हें जमीन ही नहीं मिली। हालांकि डॉ. सिंह ने बिहार में काम करने को सबसे अच्छा अनुभव बताते हुए पावरग्रिड कर्मियों से पक्षपात से बचने और केवल काम करने की अपील की। उन्होंने स्पष्ट कहा कि बिहार में काम करना काफी सहज है, सिर्फ अपने काम से मतलब रखें तब। इस अवसर पर गणेश सिंह, अरुण कुमार, जे.पी. सिंह, सुरन्द्र राय, डॉ. हरी आदि अधिकारी उपस्थित थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ऊचरा क्षेत्र में आदर्श राज्य होगा बिहार