अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपराधी अनिल शर्मा फरार

हत्या के मामले में उम्र कैद की सजा काट रहा कुख्यात अपराधी अनिल शर्मा रिम्स (राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान, रांची) से नाटकीय तरीके से फरार हो गया है। हाजीपुर जेल में बंद अनिल को अप्रैल के अंतिम सप्ताह में अदालत में पेशी के लिए रांची लाया गया था। यहां रीढ़ की हड्डी में दर्द की शिकायत के बाद 10 मई को उसे रिम्स में भरती कराया गया था। अनिल शर्मा गुरुवार रात एक से दो बजे के बीच फरार हुआ। उस समय उसकी सुरक्षा में तैनात सभी छह सुरक्षाकर्मी दूसर कमर में सो रहे थे। उसे स्कॉर्पियो से तीन लोग किसी अज्ञात स्थान पर ले गये। वहीं पुलिसकर्मियों का कहना है कि वह शुक्रवार को ढाई बजे दिन में भागा।ड्ढr क्या है एफआइआर : अनिल शर्मा की फरारी के मामले में शुक्रवार शाम बरियातू थाने में एफआइआर दर्ज करायी गयी है। इसमें अनिल शर्मा के अलावा कारू सिंह, सुनील सिंह और कन्हाई सिंह को आरोपी बनाया गया है। पुलिस के अनुसार यही लोग अनिल को भगाने लिए स्कॉर्पियो लेकर आये थे। इसके आलावा अनिल को भगाने के मामले में छह पुलिसकर्मियों को भी दोषी मानते हुए उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज करायी गयी है।ड्ढr सुरक्षाकर्मियों का कहना है : अनिल की सुरक्षा में एक हवलदार और पांच सुरक्षाकर्मी तैनात थे।ड्ढr सुरक्षाकर्मियों के अनुसार शुक्रवार को उसने कहा कि पैथोलॉजी विभाग में उसे जांच करानी है। एक सुरक्षाकर्मी मंगल सिंह पिंगुवा उसे तीसर तल्ले से लेकर पहले तल्ले पर उतरा। वहीं वह नाटकीय तरीके से मोटरसाइकिल पर सवार होकर भाग निकला। अनिल शर्मा के रिम्स से फरार होने की सूचना मिलते ही रांची पुलिस अधिकारियों के होश उड़ गये। पुलिस के बड़े अफसर सीधे रिम्स की ओर भागे।ड्ढr 1में दिल्ली में पकड़ा गया था: एक दर्जन से भी अधिक आपराधिक मामलों के आरोपी अनिल को 1में दिल्ली से पकड़ा गया था। उस समय रांची के एसएसपी अमिताभ चौधरी थे। उसी समय से वह जेल में बंद था। शेष पेज 1परड्ढr उसे कभी रांची, तो कभी हाारीबाग और कभी बिहार के जेल में रखा जा रहा था। रांची जेल में उसने एक कैदी भोमा सिंह की हत्या कर दी थी। इसी मामले में दो वर्ष पहले उसे उम्रकैद की सजा हुई। सजा मुकर्रर होने के बाद सुरक्षा कारणों से उसे बिहार के हाजीपुर जेल में रखा गया था।ड्ढr पुलिसकर्मियों की भूमिका संदिग्ध : सिटी डीएसपी महेश राम पासवान ने कहा कि मामले में सुरक्षाकर्मियों की भूमिका संदिग्ध है। उन्होंने कहा कि जिसकी सुरक्षा में छह लोग तैनात थे, वह भाग गया-यह पुलिस के लिए शर्मिदगी की बात है। डीएसपी ने कहा कि पुलिसकर्मियों को तत्काल निलंबित कर दिया गया है। उन्हें विभाग से निकाला जायेगा और उनके विरुद्ध मुकदमा भी दर्ज होगा। फैक्ट शीटएक माह पहले बिहार के हाजीपुर से रांची लाया गया थाड्ढr रिम्स से गुरुवार की रात दो बजे फरार हुआड्ढr छह पुलिसकर्मी निलंबित, सेवा से बर्खास्त होंगे,एफआइआर दर्जड्ढr एक दर्जन से भी अधिक आपराधिक मामले का आरोपी है शर्माड्ढr वर्ष 1में दिल्ली से पकड़ा गया थाड्ढr रांची जेल में एक कैदी भोमा सिंह की हत्या की थीड्ढr पुलिसकर्मियों की भूमिका संदिग्धड्ढr ाांच के बहाने रिम्स के पैथोलॉजी विभाग गया, जहां से वह फरार हो गया रिश्तेदारों पर नजरड्ढr पटना। अपराधी अनिल शर्मा की फरारी ने बिहार पुलिस के भी कान खड़े कर दिये हैं। वह मूल रूप से बेगूसराय का रहनेवाला है। लोजपा सांसद सूरजभान के भाई से पिछले साल ही उसने अपनी बेटी की शादी की है। जदयू के एक विधायक से भी उसके नजदीकी रिश्ते हैं। पुलिस को आशंका है कि अनिल बिहार में कहीं छिपा हो सकता है। उक्त दोनों नेताओं समेत उसके रिश्तेदारों के घरों पर पुलिस की कड़ी नजर है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अपराधी अनिल शर्मा फरार