DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एअरटेल-एमटीएन के बीच बातचीत टूटी

भारती एअरटेल लिमिटेड और दक्षिण अफ्रीका की एमटीएन समूह के बीच सौदे की बातचीत टूट गई है। दोनों कंपनियों के बीच सौदे के तहत कंपनी के गठन पर सहमति नहीं बनने के कारण बातचीत को खत्म कर दिया गया है। एअरटेल ने शनिवार को बताया कि इस बारे में शुक्रवार देर रात तक बातचीत चली लेकिन दोनों पक्ष किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सके जिसके कारण कंपनी ने एमटीएन के साथ जारी बातचीत से स्वयं को अलग कर लिया। दोनों कंपनियों ने पांच मई को दूरसंचार क्षेत्र में मिलकर काम करने की घोषणा की और फिर 16 मई को इस बारे मंे कई मसौंदों पर सैद्धांतिक सहमति का प्रस्ताव भी तैयार किया, लेकिन इस मसौदे को बुधवार को जब एमटीएन बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत किया गया तो बोर्ड ने भारती एअरटेल को कार्य संचालन के लिए दो संयुक्त कंपनियों के गठन पर विचार के लिए आमंत्रित किया। भारती ने कहा कि एमटीएन ने उसके समक्ष अब नई व्यवस्था का एक प्रस्ताव रखा है जिसके अनुसार भारती उसकी सहयोगी कंपनी होगी। कंपनी ने कहा कि यह समझौते के मसौदे से एकदम अलग है और भारती इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं कर सकती है। इस समझौते को स्वीकार करने का मतलब है कि नई कंपनी पर एमटीएन का ही नियंत्रण रहेगा। भारती का कहना है कि अमेरिका और यूरोप के दर्जनों अंतरराष्ट्रीय बैंक उसे 60 अरब डॉलर से अधिक की राशि देने के लिए तैयार हैं। एमटीएन फिलहाल दक्षिण अफ्रीका के अलावा नाइजीरिया, कैमरून, घाना, जिम्बाबे तथा युगांडा में अपनी सेवा उपलब्ध करा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एअरटेल-एमटीएन के बीच बातचीत टूटी