अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीसीएल का नये प्रोजेक्ट से ही ग्रोथ संभव : नाग

सीसीएल के नये निदेशक तकनीक (पीएंडपी) टीके नाग ने कहा कि नये प्रोजेक्ट के खुलने से ही कंपनी का ग्रोथ संभव है। अन्यथा उत्पादन में स्थिरता आ जायेगी। उनका प्रयास होगा कि आम्रपाली, मगध, कोनार आदि प्रोजेक्ट जल्द चालू हों। वह पदभार ग्रहण करने के बाद 24 मई को बातचीत कर रहे थे।ड्ढr नाग ने कहा कि काम तेजी से बढ़ाने के लिए प्रोजेक्ट का फोलोअप करंगे। इसके खुलने से समीप के लोगों को लाभ होगा, इसका भरोसा उन्हें दिलायेंगे। कोल इंडिया व्यावसायिक संगठन है। मैनपावर घटता जा रहा है। आउटपुट भी बढ़ाना है। इसके लिए खदानों का मशीनीकरण करना होगा। पूर विश्व में बड़ी मशीन की बात चल रही है। चूरी और परा में कंटीन्यूअस माइनर लाया जा रहा है। भूमिगत खदानों में हाइवाल माइनिंग तकनीक शुरू होगी। एसइसीएल और डब्ल्यूसीएल में बड़ी मशीनें काम कर रही हैं। बीसीसीएल में भी लगाने की योजना है। कहा कि नियम के दायर में कर्मियों के लिए वह हर काम करंगे।ड्ढr सीसीएल से नौकरी शुरू कीड्ढr टीके नाग ने जेट के रूप में नौकरी की शुरुआत सीसीएल से ही की। आइएसएम धनबाद से 1में माइनिंग इांीनियरिंग की डिग्री ली। वर्ष 2002 तक यही रहे।ड्ढr बोर्ड की बैठक 27 कोड्ढr सीसीएल बोर्ड की बैठक 27 मई को कोलकाता में होगी। इसमें नये प्रोजेक्ट खोलने, उनके विस्थापितों को नौकरी और मुआवजा देने सहित कई अन्य मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। इसमें मैनपावर बजट को एक्सटेंशन देने का मामला भी जा सकता है।ड्ढr डीपी को पत्र लिखाड्ढr राष्ट्रीय कोयला मजदूर यूनियन ने डीपी को पत्र लिख कर कर्मियों को इंसेंटिव देने की देने की पुन: मांग की है। संगठन के मुख्यालय अध्यक्ष जगन्नाथ साहू ने कहा कि उनकी बदौलत ही कंपनी ने अधिक उत्पादन किया और लाभ कमाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सीसीएल का नये प्रोजेक्ट से ही ग्रोथ संभव : नाग