DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बहुत भ्रष्टाचार है झारखंड में : द्रेज

राइट टू फूड आंदोलन के अग्रणी नेता और प्रख्यात अर्थशास्त्री ज्यां द्रेज का कहना है कि झारखंड में भ्रष्टाचार बहुत है। मैंने तकरीबन पूर देश में विकास कार्यो और राइट टू फूड की स्थिति का आकलन किया है। इसमें झारखंड की स्थिति चिंताजनक है। कई जगहों पर हालत अच्छी है, लेकिन कई जगहों पर गड़बड़ियों की जड़ें काफी गहरी हैं। उन्होंने पलामू के छतरपुर में नरगा की हालत को करीब से देखा है। पूर देश की तुलना में छत्तरपुर की स्थिति को अलग मानते हैं। यहां सूचना अधिकार और नरगा का सही क्रियान्वयन नहीं हो रहा है। कॉन्ट्रैक्ट पर काम होता है। कॉन्ट्रैक्टर सिर्फ अपने फायदे को ध्यान में रख कर काम करते हैं। अपना पैसा कैसे निकालें यहीं सोच हावी रहती है। उन्होंने कहा भ्रष्टाचार इसी से अधिक फैल रहा है। उन्होंने कहा कि झारखंड की यह स्थिति पंचायत चुनाव नहीं होने के कारण है। अपने सहयोगी ललित मेहता की मृत्यु के बाद क्या वे सुरक्षा की आवश्यकता महसूस नहीं करते हैं? इस सवाल पर द्रेज ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि उन्हें सुरक्षा की कोई जरूरत है। मेर विचार से ग्रास रूट स्तर पर कार्य कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं को सुरक्षा की ज्यादा आवश्यकता है। इस अभियान में सभी लोगों की भागीदारी है। मैं रहूं या न रहूं यह अभियान जारी रहेगा।ड्ढr भ्रष्टाचार हटे, बड़ी सुरक्षा होगीड्ढr राइट टू फूड अभियान में सोशल ऑडिट कर रहे और सर्वोच्च न्यायालय आयुक्त के राज्य सलाहकार बलराम ने सुरक्षा के सवाल पर कहा कि भ्रष्टाचार को हटाया जाये, यही सबसे बड़ी सुरक्षा होगी। उन्होंने कहा यहां पूरी आबादी को सुरक्षा की जरूरत है और हम भी उसी समाज का हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि भ्रष्ट लोगों पर अंकुश लगाया जाये, तो सुरक्षा अपने आप मिल जायेगी। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बहुत भ्रष्टाचार है झारखंड में : द्रेज