DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनियाभर में देश का गौरव बढ़ा रहे पूर्वात्तर के छात्र

बच्चों को छोटी उम्र से ही पढ़ाई के साथ-साथ रचनात्मक कार्य करने की भी प्रेरणा दी जाए तो कोई शक नहीं कि सफलता उनके कदम चूमेगी। छोटे बच्चों के कारनामों की खबरंे मीडिया में अक्सर आती रहती है। आतंकग्रस्त राज्य असम के गुवाहाटी स्थित मारिया पब्लिक स्कूल के छात्र अपनी प्रतिभा का दुनियाभर में लोहा मनवा रहे हैं। दुनिया के महत्वपूर्ण विषयों पर सयुंक्त राष्ट्र संघ के प्रतिनिधियों और विख्यात वैज्ञानिकों के सामने बेबाक विचार रखना बहुत मायने रखता है। मारिया स्कूल के छात्र पिछले तीन वर्षों से न्यूयार्क में यूनाइटेड नेशनल इंटरनेशनल स्कूल प्रतियोगिता में भारत का गौरव बढ़ा रहे हैं। हाल ही में न्यूयार्क से लौटे मारिया स्कूल के बच्चों ने बताया कि दुनिया के स्कूलों के करीब सात सौ छात्रों और सयुंक्त राष्ट्र संघ के प्रतिनिधियों के साथ बीते अनुभव ने उनका नजारिया ही बदल दिया है। इस बार विश्व में खाद्य समस्या पर बच्चों के विचार और उनकी बनाई गई फिल्म को सभी लोगों ने काफी सराहा। छात्रा जान शर्मा पार्थिक ने बताया कि हमारा सौभाग्य है कि अंतरराष्ट्रीय मंच पर हमार सहयोगियों को अपने विचार व्यक्त करने का मौका मिला रहा है। इस पर पूर भारतीयों को गर्व होना चाहिए। यूएनआईएस मीट में भारतीय छात्रों के विचारों को सुनने वालों में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बॉन की मून भी शामिल थे। छात्रों ने बताया कि उन्होंने फिल्म के माध्यम से देश में खाद्य समस्या का चित्रण किया है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दुनियाभर में देश का गौरव बढ़ा रहे पूर्वात्तर के छात्र