अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैस लाइन पर और इंतजार नहीं : पाक

पाकिस्तान को लगता है कि ईरान-पाकिस्तान-भारत गैस पाइप लाइन परियोजना पर भारत सरकार पीछे हट रही है। पाक सरकार ने भारत को साफ शब्दों में बता दिया है कि अगर वह इस परियोजना पर इसी तरह हिचकता रहा तो पाक सरकार ईरान के साथ समझौते पर हस्ताक्षर कर देगी। इस्लामाबाद में इस अखबार के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बताया कि पिछले सप्ताह इस्लामाबाद यात्रा के दौरान भारत के विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी को साफ बता दिया गया दिया था कि पाकिस्तान इस परियोजना के बार में और इंतजार नहीं कर सकता। कुरैशी ने कहा कि सियाचिन के मसले पर पाकिस्तान भारत की चिंताओं पर विचार करने को तैयार है और पाक सरकार ने इस संबंध में मुखर्जी को एक प्रस्ताव दिया था। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में नई सरकार के गठन के बाद माहौल बदल गया है। रिश्तों को बेहतर बनाने के लिए नई संभावनाएं सामने आई हैं। इसलिए प्रधामंत्री डा. मनमोहन सिंह को इसी साल पाकिस्तान की यात्रा करनी चाहिए। कुरैशी ने कहा, ‘यदि प्रधानमंत्री चाहते हैं कि इतिहास में उनका नाम दर्ज हो तो उन्हें पाक का दौरा जरूर आना चाहिए। यदि वह यह अवसर गवां देते हैं तो हम सबके लिए दुखद होगा।’ पाक विदेश मंत्री ने कहा, ‘मैं व्यक्ितगत रूप से महसूस करता हूं कि भारतीय नेतृत्व उस बात की अहमियत को समझता है, जो मैं कह रहा हूं। मुझे बताया गया है कि सियाचिन मसले पर भारतीय सेना राजी नहीं है।’ इस बीच पाकिस्तान और चीन के बीच गैस परियोजना के बार में बात शुरू हो गई है। कुछ सप्ताह पहले पाक विदेश मंत्री ने बीजिंग का दौरा किया था और बाद में चीनी विदेश मंत्री भी पाकिस्तान आए थे। इस दौरान दोनों देशों के नेताओं ने गैस पाइप लाइन परियोजना पर चर्चा की। कुरैशी ने बताया कि चीन को ऊरा की बहुत जरूरत है और उसने इस परियोजना में रुचि दिखाई है। यह पूछे जाने पर कि अगर आतंकवादियों ने गैस पाइप लाइन को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की तो क्या होगा, इस पर उनका जवाब था कि भारत और पाकिस्तान मिलकर इसका हल निकाल सकते हैं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गैस लाइन पर और इंतजार नहीं : पाक