DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुआ करूंगा, मुम्बई व चेन्नई हारें : वीरू

विरंदर सहवाग हाथ जोड़कर प्रार्थना करने में लगे हैं कि सचिन की मुंबई और धोनी की चेन्नई टीम अपने अगले मैचों में हार जाएं। सहवाग बेशक टीम इंडिया में सचिन तेंदुलकर और महेन्द्र सिंह धोनी के साथ खेलते हों लेकिन आईपीएल में इस समय वह ऐसी ही दुआ कर रहे हैं। वह यह दुआ इसलिए कर रहे हैं ताकि उनकी दिल्ली टीम आईपीएल 20-20 टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंच सके। शनिवार रात फिरोजशाह कोटला मैदान में मुंबई के खिलाफ पांच विकेट की रोमांचक जीत से राहत महसूस कर रहे दिल्ली के कप्तान सहवाग ने संवाददाताओं से कहा कि हमारे लीग मैच खत्म हो चुके है। अब हमें अगले चार दिन कोई मैच नहीं खेलना है। लेकिन इस दौरान हम यही दुआ करेंगे कि मुंबई और चेन्नई अपने अगले मैचों में हार जाएं ताकि दिल्ली सेमीफाइनल में पहुंच सके। दिल्ली के 14 लीग मैच खत्म होने के बाद 15 अंक है। चेन्नई सुपर किंग्स के 13 मैचों से 14 अंक है और यदि उसे सेमीफाइनल में पहुंचना है तो उसे डेक्कन चार्जर्स हैदराबाद के खिलाफ अपना आखिरी लीग मैच जीतना होगा। मुंबई के 12 मैचों में से 12 अंक है और यदि उसे सेमीफाइनल में पहुंचना है तो उसे अपने अंतिम दो मैचों में राजस्थान रायल्स और बेंगलूर रायल चैलैंजर्स को हराना होगा। सहवाग ने कहा कि हमने टूर्नामेंट में दो बेहद नजदीकी मुकाबले हारे थे। यदि हमने ये मुकाबले जीत लिए होते तो आज हम सेमीफाइनल में बैठे होते और चेन्नई तथा मुंबई अंतिम चार के लिए संघर्ष कर रहे होते। यह पूछने पर कि अगले चार दिन वह क्या करेंगे, सहवाग ने कहा हम गोवा छुट्टियां मनाने नहीं जा रहे हैं लेकिन अगले चार दिन मुंबई और चेन्नई की हार के लिए दुआ करेंगे। सहवाग ने मुंबई के खिलाफ जीत का सारा श्रेय मैन आफ द मैच दिनेश कार्तिक को देते हुए कहा कार्तिक ने हमें एकतरफा अंदाज में मैच जिताया। जब तक वह क्रीज पर थे हमें जीत की पूरी उम्मीद थी।ड्ढr यदि वह आउट हो जाते तो हमारे लिए जीतना मुश्किल हो जाता। कार्तिक ने नॉटआउट 56 रन बनाए और फरवीज महारुफ (नॉटआउट 20) के साथ छठे विकेट लिए 4रन की मैच विजयी साझेदारी की। सहवाग ने महारूफ की भी सराहना करते हुए कहा कि वह उन पर किसी बल्लेबाज से ज्यादा भरोसा रखते हैं। उन्होंने कहा कि महारूफ काफी अनुभवी खिलाड़ी हैं और वह चौके छक्के मारने की क्षमता रखते हैं। सहवाग ने साथ ही कहा कि दिल्ली का मध्यक्रम सही समय पर काम आया।ड्ढr दिल्ली के कप्तान ने अपने गेंदबाजों की भी सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने मुंबई को जोरदार शुरुआत के बाद 176 रन पर रोक दिया। शॉन पोलक के साथ पहले ओवर की अपनी बहस के बारे में पूछने पर सहवाग ने कहा मैंने जब पोलक को चौका मारा था तब पोलक के पास से गुजरते हुए मुझे लगा कि उन्होंने गुस्से में मुझे कोहनी मारी है। लेकिन पोलक ने मुझसे कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है वह अपनी गेंदबाजी से हताश थे। सचिन के खिलाफ कप्तानी के लिए सहवाग ने कहा उनके विरुद्ध खेलने में मजा आया लेकिन हर कोई उनके साथ खेलना चाहेगा उनके खिलाफ नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दुआ करूंगा, मुम्बई व चेन्नई हारें : वीरू