अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सदानंद की कार्यशैली पर ही उठाया सवाल

प्रदेश कांग्रस अध्यक्ष सदानन्द सिंह की कार्यशैली पर उनके ही महासचिव ने सवाल उठा दिया है। वरीय महासचिव जमाल अहमद भल्लू ने प्रदेश अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव समीर कुमार सिंह की वैधानिकता को चुनौती दी है। उन्होंने अध्यक्ष से पूछा है कि क्या समीर कुमार सिंह की नियुक्ित पार्टी अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी के निर्देश पर हुई है? श्री सिंह प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य नहीं हैं। ऐसी स्थिति में वे प्रदेश पदाधिकारियों एवं जिला अध्यक्षों को दिशा-निर्देश कैसे दे सकते हैं? हालांकि इस बाबत पूछने पर सदानन्द सिंह ने कहा कि यह पार्टी का आंतरिक मामला है। पत्र के आलोक में उचित फोरम पर उचित कार्रवाई की जाएगी।ड्ढr ड्ढr मामला प्रदेश कार्यालय में 21 मई को आयोजित पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न राजीव गांधी के पुण्यतिथि समारोह से जुड़ा है। पत्र के मुताबिक उस दिन समीर कुमार सिंह ने कहा कि 23 जिला अध्यक्षों को कांग्रस संविधान और परम्परा की जानकारी नहीं है। इसी वक्तव्य से भन्नाये श्री भल्लू ने कहा है कि समीर कुमार सिंह ने आलाकमान के निर्णय पर ही प्रश्नचिह्न् लगा दिया है। जिला अध्यक्षों का निर्वाचन एक प्रक्रिया के तहत पार्टी अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी की अनुमोदन पर हुआ है।ड्ढr ड्ढr उनके निर्वाचन में राष्ट्रीय महासचिव एवं सचिव (बिहार प्रभारी), प्रदेश अध्यक्ष सदानन्द सिंह, कांग्रस विधायक दल के नेता डा. अशोक कुमार और प्रदेश कांग्रस निर्वाचन पदाधिकारी की निर्णयात्मक भूमिका रही है। श्री भल्लू ने कहा है कि श्री सिंह द्वारा प्रदेश अध्यक्ष के समक्ष ही जिला अध्यक्षों पर टिप्पणी उचित नहीं है। अगर यह सही है तो तीन वर्षो से वैसे लोग जिला कांग्रस कमेटी को कैसे चला रहे हैं? उनपर क्यों नहीं कार्रवाई की गई? ऐसी स्थिति में प्रदेश अध्यक्ष द्वारा आलाकमान को भेजा जा रहा मासिक एवं वार्षिक संगठनात्मक प्रतिवेदन भी भ्रामक है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सदानंद की कार्यशैली पर ही उठाया सवाल