DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड में मिथेन गैस से बनेगी बिजली

धनबाद कोयलांचल से देश में नयी ‘ऊरा क्रांति’ की शुरुआत की तैयारी पूरी है। यहां बीसीसीएल के मुनीडीह कोलियरी क्षेत्र से मिथेन का व्यावसायिक दोहन शुरू हो जायेगा। इसका इस्तेमाल बिजली उत्पादन में होगा। सबसे पहले मुनीहीह प्रोजेक्ट कालोनी इससे जगमग होगी।ड्ढr छह जून को इसका ट्रायल होगा। सब कुछ ठीक रहा, तो फिर मिथेन गैस दोहन शुरू हो जायेगा। अब तक अमेरिका, चीन, आस्ट्रेलिया में ही मिथेन का दोहन हो रहा था। ‘कोलबेड मिथेन रिकवरी एंड कामर्शियल यूटिलाक्षेशन’ प्रोजेक्ट पर सीएमपीडीआइ और बीसीसीएल की टीम संयुक्त रूप से काम रही है। इसके लिए संयुक्त राष्ट्र विकास परियोजना, भारत सरकार और जीइएफ पैसा दे रहा है। प्रोजेक्ट रोड़ का है। सीएमपीडीआइ की इसमें अहम भूमिका है। इसकी शुरुआती सफलता से अधिकारी उत्साहित हैं। योजना आयोग के सदस्य वीएल चोपड़ा नौ मई को साइट का दौरा कर जायजा ले चुके हैं। सीएमपीडीआइ के निदेशक तकनीक एएन सहाय 20-21 को वहां गये थे। दो दिन पहले यहां हाइड्रोफ्रैक्चरिंग का काम पूरा कर लिया गया है। विशेषज्ञों को पर्याप्त गैस मिलने के संकेत भी मिले हैं। बीसीसीएल के सीएमडी एके पाल कहते हैं कि अभी प्रक्रिया प्रायोगिक चरण में है।ड्ढr उत्पादन शुरू होने में दो-ढाई माह का समय लगेगा। छह जून के बाद आगे की कार्ययोजना तय की जायेगी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: झारखंड में मिथेन गैस से बनेगी बिजली