अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों ने तीन डंपर फूंके

अनगड़ा थाना क्षेत्र में जरुआडीह गांव के पास रांची-मुरी सड़क पर नक्सलियों ने रविवार की देर शाम करीब नौ बजे अंधाधुंध फायरिंग कर चार लोगों को घायल कर दिया। हथियारबंद नक्सलियों ने तीन डंपरों में आग लगा दी। लकड़ी लदे दो ट्रक फायरिंग में क्षतिग्रस्त हो गये। उधर बीती रात नक्सलियों ने रांची-टाटा मार्ग पर तमाड़ के पास एक पुलिया उड़ाने की कोशिश कर दहशत फैलाने की कोशिश की।ड्ढr अनगड़ा की घटना के बाद से उक्त सड़क पर यातायात बंद हो गया। अनगड़ा थाना पुलिस ने डाकबंगला के पास सुरक्षा की दृष्टि से वाहनों को रोक दिया था। राजधानी से करीब 35 किलोमीटर दूर रांची-मुरी मार्ग पर जरुआडीह के पास सड़क के दोनों ओर करीब एक दर्जन हथियारबंद नक्सलियों ने मोर्चा संभाल रखा था। सोनाहातू में आयोजित झाविमो की एहसास रैली से लौट रहे एक ट्रेकर, जिस पर झाविमो कार्यकर्ता सवार थे, पर नक्सलियों ने फायरिंग की। इसमें तीन लोग घायल हो गये। बाद में ट्रेकर को राजाडेरा के पास खड़ा कर उस पर सवार सभी लोग भाग गये।ड्ढr ट्रेकर के पीछे आ रहे तीन डंपरों को नक्सलियों ने फायरिंग कर रोक दिया। उनके ड्राइवरों और खलासियों को भगा दिया। फिर उनमें आग लगा दी। जिन डंपरों में आग लगायी गयी, उनके नंबर बीआर 13-बी-5582 और बीआर-13-ाी-8353 हैं। एक अन्य का नंबर पता नहीं चला। इसके बाद नक्सलियों ने वहां से गुजर रहे दो ट्रकों पर फायरिंग की। एक ट्रक (यूपी 13-एो ड्राइवर गोली लगने से घायल हो गया। वह ट्रक कांटाटोली के कलाम का बताया जाता है। घायल ड्राइवर को रिम्स में भरती कराया गया है। उक्त ट्रक के खलासी मन्नान अंसारी (चंदवे, विकास) के अनुसार नक्सलियों ने ट्रक को रोकने का प्रयास किया, लेकिन ड्राइवर किसी तरह ट्रक को लेकर जोन्हा तक पहुंच गया। ट्रक में चार गोलियों के निशान हैं। खलासी के अनुसार सभी नक्सलियों के पास राइफल जसे बड़े हथियार थे। एक अन्य ट्रक (एनएल-02 जी-2301) भी फायरिंग में क्षतिग्रस्त हो गया। घटना की सूचना मिलते ही रांची-मुरी मार्ग पर यातायात बंद हो गया। पुलिस ने अनगड़ा डाकबंगला के पास सुरक्षा की दृष्टि से वाहनों को रोक दिया। पुलिस के अनुसार दिन में पूर इलाके में कांबिंग ऑपरशन चलाया गया था। इसके प्रतिशोध में नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम दिया है। उधर नक्सलियों ने बीती रात रांची-टाटा मार्ग पर तमाड़ के रुगड़ी-नावाडीह गांव के निकट पुलिया उड़ाने की कोशिश की। बीती रात करीब दो बजे जब लोग सो रहे थे, जोरदार धमाका हुआ। इसकी गूंज पांच किमी दूर तक सुनाई पड़ी, लोग डर गये। बाद में पता चला कि रुगड़ी पुलिया उड़ाने की कोशिश की गयी थी। नक्सली रांची-टाटा मार्ग को बाधित करना चाहते थे। पुलिस का यह भी दावा है कि टाइमर केन बम पुलिस के लिए लगाया गया था, ताकि वहां चल रहे पुलिस अभियान को बाधित किया जा सके। एनएच पर केन बम होने की सूचना मिलने पर वहां पहुंची और टाइमर केन बम को निष्क्रय कर दिया। पुलिस का कहना है कि तार लगाकर नक्सली पुलिस के आने के इंतजार में बैठे होंगे। दो केन बम भी मिले हैं, जिन्हें निष्क्रय कर दिया गया।ड्ढr 24 को ही अड़की के शशांक पहाड़ से तीन हजार जिलेटिन, वर्दी, मैनपैक, नक्सली साहित्य आदि बरामद किये गये थे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नक्सलियों ने तीन डंपर फूंके