डॉक्टर बनना चाहती थी बिटिया, घर का काम भी करती थी... - डॉक्टर बनना चाहती थी बिटिया, घर का काम भी करती थी... DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉक्टर बनना चाहती थी बिटिया, घर का काम भी करती थी...

जिन लड़कियों के साथ यह घटना घटी उनमें से एक की उमर 12 साल थी और दूसरे की 14 साल। एक कक्षा 8 में पढ़ती थी तो दूसरी कक्षा 6 में। दोनों की मां और दादी के लिए वे लड़कियां नहीं थीं... बच्चियां थीं। छोटी और कच्ची उमर की बच्चियां। छोटी की मां धीमी आवाज में कहती है... आप जानती हैं बिटिया को अभी तक महीना आना भी शुरू नहीं हुआ था! गले तक का घूंघट काढ़े इन मांओं की आंखों में आंसू नहीं है... सन्नाटा है...जैसे रोने और खोने के लिए अब कुछ बाकी नहीं!! बातों बातों उन्होंने बताया कि...
... बड़ी को नौकरी करने का बड़ा मन था। कहती थी कि बाहर जाकर नौकरी करेगी।
... बाहर कहां? विदेश?
... नहीं! बंदायू या बरेली...।
.. और छोटी?
... छोटी तो डॉंक्टरनी बनना चाहती थी। उसका यही मन था।
... कैसी थी पढ़ने में?
... बड़ी होसियार थी। खूब काम करती थी।
... खूब काम मतलब?
... बड़ी तो अकेली थी मगर छोटी के भाई थे। भाई भी छोटे... वो खेत चले जाते। यही दोनों बिटियां घर का पानी भरतीं। खाना बनाती। सबके कपड़े धुलतीं फिर पढ़ाईं करतीं। ये दोनों माएं जानती हैं कि अपराधी पकड़े जाएंगे। यह भी जानती हैं कि उन्हें सजा मिल जाएगी। मगर यह सच उस सच का क्या करे कि कोई कानून या कोई सजा उनकी बिटिया को वापस तो नहीं  ला पाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डॉक्टर बनना चाहती थी बिटिया, घर का काम भी करती थी...