अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डिप्टी सीएम मरांडी और महतो एक्ट के पक्ष में नही ं

उप मुख्यमंत्री प्रो स्टीफन मरांडी और सुधीर महतो 7 इसी के पक्ष में नहीं हैं। प्रो मरांडी कहते हैं कि 7 इसी को तत्काल निरस्त कर देना चाहिए। महंगाई पर लगाम लगाना उद्देश्य है, लेकिन इसके लागू करने से मंहगाई पर लगाम संभव नहीं है। इस संबंध में वह सीएम से बात करेंगे। प्रो मरांडी मंगलवार को रांची पहुंच रहे हैं। वह दुमका में हैं। वहीं उप मुख्यमंत्री सुधीर महतो का कहना है कि एनडीए की तत्कालीन सरकार ने 2003 में 7 इसी को लागू किया था। सरकार इसे सख्ती से लागू करने के पक्ष में नहीं है। रविवार को वह जल संसाधन मंत्री कमलेश सिंह के साथ सीएम से मिले थे। सीएम ने स्पष्ट कहा कि 7 इसी 2003 से ही लागू है। इस पर सख्ती करने की सरकार की कोई मंशा नहीं है। महतो ने कहा कि खाद्य पदार्थो की कालाबाजारी रोकने से संबंधित केंद्र सरकार का एक पत्र आया था। इसके बाद ही 7 इसी का मामला सामने आया। उन्होंने कहा कि 7 इसी 2003 से जिस स्थिति में थी, आज भी उसी स्थिति में है। छात्र युवा संघर्ष समिति ने भी किया विरोध छात्र युवा संघर्ष समिति ने 7इसी एक्ट का विरोध किया है। समिति के पदाधिकारियों ने बैठक कर इस एक्ट को जनविरोधी बताया। समिति के अध्यक्ष उदय शंकर ओझा ने कहा कि केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकार की गलत नीतियों के कारण महंगाई चरम पर है। इस पर काबू पाने के लिए किये जानेवाले उपायों पर ध्यान नहीं देकर सरकार राज्य में काला कानून लगा रही है। उन्होंने कहा कि 28 मई के आंदोलन में समिति बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेगी। बैठक में समिति के सचिव नवल किशोर सिन्हा, संजय सिंह परमार, धर्मराज यादव, दयाशंकर दुबे, अशोक सिंह, रणु गोप, मनोज पासवान, सीएस ओझा, केए सिंह उपस्थित थे। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डिप्टी सीएम मरांडी और महतो एक्ट के पक्ष में नही ं