DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रॉस्पेक्टस में रैगिंग की सजा का उल्लेख होगा

रैगिंग रोकने के लिए यूजीसी ने पहल की है। आयोग ने सभी विश्वविद्यालयों से कहा है कि नए शैक्षिक सत्र से अपने प्रास्पेक्टस व ब्रोशर्स में इस बात का उल्लेख करं कि रैिगग करने पर क्या सजा दी जाएगी। आयोग ने विश्वविद्यालयों के रािस्ट्रारों को लिखे पत्र में निर्देश दिया है कि उच्च शैक्षणिक संस्थानों में इस आशय के होर्डिग भी लगाए जाने चाहिए। इसके साथ ही शैक्षणिक संस्थानों के प्रमुख स्थानों पर बैनर लगाकर रैगिंग पर पाबंदी की जानकारी छात्रों को दी जानी चाहिए।ड्ढr ड्ढr उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बनी राघवन समिति ने तय किया है कि रैगिंग के बढ़ते मामलों के मद्देनजर यह जरूरी है कि दोषी छात्र को मिलने वाली सजा का उल्लेख प्रमुखता से किया जाना चाहिए, ताकि इसके प्रति छात्र सतर्क रहें। आयोग ने विवि से कहा है कि होर्डिग व बैनरों में उन अधिकारियों के नाम और फोन नम्बर का उल्लेख किया जाना चाहिए जिनसे रैगिंग होने की दशा में सम्पर्क किया जा सके।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रॉस्पेक्टस में रैगिंग की सजा का उल्लेख होगा