DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य सरकार का विकास का नारा खोखला: राजद

राजद ने राज्य सरकार के न्याय के साथ विकास के नार को खोखला बताते हुए मुख्यमंत्री से सामाजिक न्याय से संबंधित पांच सवाल पूछे हैं। प्रदेश प्रवक्ता एवं विधान पार्षद डा. भीम सिंह ने कहा है कि पंचायत चुनाव में अति पिछड़ों को 20 फीसदी आरक्षण के दर से मुखिया के कुल 16पद आरक्षित होने चाहिए थे पर मात्र 1464 यानि 17 फीसदी पद ही आरक्षित किये गये। अति पिछड़ों के साथ यह 3 फीसदी हकमारी क्यों की गई? विधानसभा एवं लोकसभा में अति पिछड़ों को सीट आरक्षित करने के लिए विधान परिषद द्वारा पारित गैर सरकारी संकल्प को राज्य सरकार ने अब तक केन्द्र सरकार को क्यों नहीं भेजा?ड्ढr ड्ढr प्रशासन द्वारा जिन निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को उपेक्षित, अपमानित व फर्जी मुकदमे में फंसाया जाता है वे प्राय: अति पिछड़े वर्ग के ही क्यों होते हैं? अति पिछड़ी जातियों के कर्मचारियों व पदाधिकारियों को शासन की मुख्य धारा में क्यों नहीं रखा जाता? अभी सूबे के 38 जिलों में सिर्फ एक ही जिला पदाधिकारी अति पिछड़ी जाति का है। राज्य सरकार ने उत्कृष्ट खिलाड़ी को एक लाख रूपये का ‘एकलव्य पुरस्कार’ देने की घोषणा की थी। उस पुरस्कार का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय पुरस्कार क्यों कर दिया गया? डा. सिंह ने कहा कि और भी ऐसे कई सवाल है जो साबित करते हैं कि पिछड़ों के बार में राज्य सरकार जितना शोरगुल करती है उतना काम करती नहीं है। ड्ढr ‘लालू का भय दिखाकर शासन कर रहे नीतीश‘ड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राष्ट्रीय समता पार्टी के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा है कि जो काम लालू प्रसाद ने 15 वर्षो तक किया वही काम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब कर रहे हैं। लालू प्रसाद ने भाजपा का भय दिखाकर शासन किया और अब नीतीश कुमार लालू प्रसाद का भय दिखाकर शासन में बने रहना चाहते हैं। श्री कुशवाहा ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार येन केन प्रकारण सत्ता में बने रहने के लिए हर हथकंडा अपना रहे हैं। यहां तक कि वे अपने संघर्ष के दिनों के साथियों को भी एक-एक कर किनारे कर रहे हैं। उन्होंने इसके लिए जदयू के प्रदेश अध्यक्ष ललन सिंह को जिम्मेवार ठहराया और कहा कि उनके कारण ही नीतीश के साथी उनसे छूटते जा रहे हैं। उन्होंने राबड़ी देवी के कथित बयान की तो निन्दा की लेकिन नीतीश कुमार के समक्ष सवाल भी दाग दिया।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि राबड़ी देवी को ऐसी भाषा का प्रयोग नहीं करना चाहिए था लेकिन नीतीश कुमार को अपने ‘ललन-प्रेम’ का कारण भी बताना होगा। इसके पूर्व श्री कुशवाहा ने चंडी के पूर्व विधायक अनिल कुमार को नालंदा से पार्टी का उम्मीदवार बनाने की घोषणा की। इसके अलावा उन्होंने मुजफ्फरपुर के निर्दलीय प्रत्याशी जार्ज फर्नाडीस के पक्ष में काम करने के लिए पी.के. सिन्हा के नेतृत्व में एक कमेटी के गठन की भी घोषणा की। कमेटी में मिथिलेश सिंह, विद्याभूषण सिंह, रामबिहारी सिंह, शंभू कुशवाहा शामिल हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज्य सरकार का विकास का नारा खोखला: राजद