अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीटीपीएस से उत्पादन ठप अंधेर में डूबा पूरा राज्य

सोमवार की रात नौ बजे पीटीपीएस से उत्पादन ठप हो गया। इससे पूरा राज्य अंधेर में डूब गया। हालांकि 0 बजे के बाद उत्पादन शुरू होने के बाद राजधानी के कुछ इलाकों को बिजली दी गयी, बावजूद इसके देर रात तक अनेक इलाके अंधेर में ही डूबे रहे। बताया कि पीजीसीआइल लाइन में जर्क आने से पीटीपीएस से उत्पादन ठप होते ही हड़कंप मच गया। बोर्ड के जनसंपर्क निदेशक दिनेश सिन्हा ने भी गड़बड़ी पर अनभिज्ञता जाहिर करते हुए बताया कि उन्हें खुद नहीं पता कि कहां और कैसे गड़बड़ी हुई। इधर कांके और कांके रोड में दिन के 11 से शाम पांच बजे तक बिजली आपूर्ति ठप रही। क्षेत्र के लोग दिन भर परशान रहे। पूछने पर बताया गया कि बिजली तार के उपर से गुजर पेड़ की डालियों को काटा जा रहा था। कांके रोड के उपभोक्ताओं की शिकायत है कि पिछले एक सप्ताह से अनियमित बिजली की आपूर्ति से लोग परशान हैं। (शेष पेज 1पर)टीवीएनएल का एक नंबर यूनिट लाइटअप: टीवीएनएल की एक नंबर यूनिट 26 को लाइटअप कर दिया गया। छह या सात जून से इस इकाई से उत्पादन शुरू कर दिया जायेगा। यह इकाई 31 मई 2007 की रात से टर्बाइन में आयी खराबी के कारण बंद हो गयी थी। बिजली चोरी करते धराया, 32 लाख जुर्माना: बिजली बोर्ड ने रातू के जनता कोल्ड स्टोरा में बिजली चोरी पकड़ा। यहां भी उपभोक्ता चिप्स लगा बिजली की चोरी कर रहा था। एमआरटी रांची के कार्यपालक अभियंता यूके सिंह और कनीय अभियंता सुरश राम की टीम ने बिजली चोरी की शिकायत पर जांच की। कोल्ड स्टोरा के मालिक पर रातू थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। मीटर जब्त कर लिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीटीपीएस से उत्पादन ठप अंधेर में डूबा पूरा राज्य