DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला आरक्षण पर पहली बैठक में ही बवाल

संसद व विधानसभाओं में महिलाओं को एक तिहाई आरक्षण के मसले पर विचार के लिए संसद की स्थायी समिति की पहली बैठक से ही बवाल शुरू हो गया है। अनु. जाति जन जातियों व पिछड़े तबके की महिलाओं को कोटे के भीतर कोटे की माँग करने के वाले राजद ने मांग कर दी कि महिला आरक्षण से क्रीमीलेयर महिलाओं को बाहर किया जाना चाहिए। बैठक में आरक्षण विरोधियों ने तर्क रखा कि जब सुप्रीम कोर्ट ने ओबीसी आरक्षण से क्रीमीलेयर को बाहर कर दिया तो फिर महिला आरक्षण कोटे से उच्च व संभ्रात वर्ग को महिलाओं को बाहर क्यों न रखा जाय?ड्ढr पिछले माह संसद के बजट सत्र के आखिरी दिन महिला आरक्षण बिल राज्य सभा में पेश कर दिया गया था। उसके बाद संसदीय समिति को बिल पर विस्तार से विचार- विमर्श का काम सौंपा गया था। लेकिन पहली बैठक में समिति को जल्द से जल्द काम समेटने की कांग्रेस सदस्य जयंती नटराजन की मांग पर ऐसा हंगामा बरपा कि बंद कमर में चली समिति की बैठक कई बार बाधित हुई। जयंती नटराजन ने वरिष्ठ राजद सदस्य देवेंद्र प्रसाद यादव के भाषण के दौरान टोकाटाकी की तो दोनों के बीच टकराव आपे से बाहर हो गया। उनके बीच तकरार ऐसा बढ़ गया कि स्थायी समिति की अध्यक्ष सुदर्शन नतचियापन को बीच-बचाव करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। संसदीय समिति जून माह की 17 व 18 तारीख को संसद में सभी दलों से महिला आरक्षण के सवाल पर विचार विमर्श करगी। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महिला आरक्षण पर पहली बैठक में ही बवाल