अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाटा में गैस लीक, अफरा-तफरी

टाटा मोटर्स कॉलोनी स्थित टाउन वाटर फिल्टर प्लांट से मंगलवार को क्लोरीन गैस के रिसाव से घंटों अफरातफरी और दहशत का माहौल रहा।ड्ढr आंखों में जलन, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत पर 200 लोगों को टाटा मोटर्स अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें दो लोगों की हालत गंभीर है। देर रात 150 लोगों को छुट्टी दे दी गयी। पूर शहर में घंटों इस घटना को ले अफरातफरी रही। लोग टेल्को कॉलोनी के अपने परिानों का हालचाल लेने को बैचेन रहे। घटना ने एकबारगी भोपाल गैस त्रासदी की याद दिला दी। हालांकि रात साढ़े 10 बजे टाटा मोटर्स प्रबंधन ने कहा कि गैस रिसाव बंद कर दिया गया है और खतर की कोई बात नहीं है। प्रबंधन ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है। खबर मिलते ही डीसी, एसपी समेत पूरा प्रशासनिक अमला वहं पहुंच गया। पूर्व सीएम अजरुन मुंडा, सांसद सुमन महतो समेत कई नेता भी अस्पताल पहुंचे। सीएम मधु कोड़ा भी बुधवार को वहां पहुंचनेवाले हैं। कोड़ा सुबह हेलीकॉप्टर से यहां पहुंचेंगे और सीधे घायलों से मिलेंगे। फिल्टर प्लांट से सुबह दस बजे से ही क्लोरीन गैस का रिसाव हो रहा था। साढ़े चार बजते-बजते स्थिति गंभीर हो गयी और पूर इलाके में आंख में जलन और सांस लेने में तकलीफ की शिकायतें आनी शुरू हो गयीं। बड़ी संख्या में लोग घर छोड़ भागने लगे। मैदान में क्रिकेट मैच खेल रहे बच्चे भी प्रभावित हुए। शाम होने के कारण सेवानिवृत्त वृद्ध मैदान में बैठे हुए थे। वे भी चपेट में आ गये। प्रभावित लोगों का कहना है कि गैस से आंखों में जलन और सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही थी। थोड़ी देर बाद कइयों को बेहोशी छा गयी। अफरातफरी और दशहत का माहौल बन गया। निरीक्षण करने के बाद डीसी आरके अग्रवाल ने कहा है कि इसकी प्रशासनिक जांच होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: टाटा में गैस लीक, अफरा-तफरी