DA Image
27 जनवरी, 2020|9:29|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयकर पर सेस की बात बेबुनियाद : वित्त मंत्रालय

वित्त मंत्रालय ने तेल कंपनियों के घाटे की भरपाई के लिए आयकर पर सेस लगाने संबंधी समाचारों को पूरी तरह निराधार बताया है। मंत्रालय ने बुधवार को जारी स्पष्टीकरण में कहा कि इस तरह के समाचार पूरी तरह मनगढ़ंत और अफवाहों पर आधारित हैं। मंत्रालय का कहना है कि आधिकारिक तौर पर मंत्रालय की तरफ से मीडिया को इस तरह की कोई जानकारी नहीं दी गई। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री के साथ वित्त मंत्री की नियमित बैठक के बाद समाचार पत्रों में प्रकाशित विभिन्न रिपोटोर्ं की तरफ उसका ध्यान गया। विशेषतौर पर आयकर पर नया उपकर लगाने के समाचारों को मंत्रालय ने गंभीरता से लिया। मंत्रालय ने इस प्रकार की खबरों को मनगढ़ंत और सटोरिया मनोवृति पर आधारित बताया। उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों से पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़ाने, उन पर आयात और उत्पाद शुल्क में कमी करने तथा प्रत्यक्ष करों पर सेस लगाने संबंधी कई तरह के समाचार प्रकाशित किए जा रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के आसमान छूते दाम और सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों के बढ़ते घाटे को देखते हुए पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़ाने को लेकर अटकलें जोरों पर हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: आयकर पर सेस की बात बेबुनियाद : मंत्रालय