DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बातचीत कर समस्या सुलझाएं राजे : सचिन

ांग्रेस के युवा सांसद सचिन पायलट ने कहा है कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को प्रधानमंत्री को ‘भ्रामक पत्र’ लिखकर राजनीति करने के बजाए आंदोलनकारी गुर्जर नेताओं से बातचीत कर समस्या का समाधान एवं राज्य में अराजकता की स्थिति समाप्त करनी चाहिए। श्री पायलट के अनुसार अगर वाकई वह गुर्जरों को अनुसूचित जन जाति का दर्जा दिए जाने के अपने आश्वासन के प्रति गंभीर हैं, तो उन्हें इसके लिए निर्धारित प्रक्रिया के तहत केंद्र को अपनी स्पष्ट सिफारिश ोजनी चाहिए। श्री पायलट ने बुधवार को यहां हिंदुस्तान से बातचीत में श्रीमती राजे पर निरंकुश तानाशाह की तरह काम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अनुसूचित जन जाति का दर्जा मांग रहे गुर्जर आंदोलनकारियों से बातचीत करने और समस्या सुलझाने के बजाए वह उनके दमन पर आमादा हैं। उनके अनुसार लोकतंत्र में किसी भी तरह की हिंसा का समर्थन नहीं किया जा सकता लेकिन अपना हक मांगने का अधिकार सभी को है। श्रीमती राजे के आश्वासन को पूरा करने की मांग कर रहे आंदोलनकारियों से मिलकर उनकी बातें सुनने के बजाए वह ‘पहले गोली मारो, अफसर ोजो और फिर राजनीतिक डायलाग करो’ की नीति अपना रही हैं। श्रीमती राजे ने पिछले साल भी इसी मांग के लिए आंदोलन कर रहे 26 गुर्जरों की मौत से कोई सबक नहीं लिया। इस साल भी अब तक 40 लोग पुलिस की गोलियों के शिकार बनाए जा चुके हैं। श्री पायलट ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, विपक्ष के नेता लालकृष्ण आडवाणी और भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह की चुप्पी पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि उनके इस रवैए के खिलाफ गुर्जर समाज में भारी असंतोष है। पायलट ने आरोप लगाया कि स्थानीय सांसद होने के बावजूद उन्हें उनके क्षेत्र में जाने पर लिखित प्रतिबंध लागू किया गया है। संवैधानिक दायित्वों का उचित ढंग से निर्वाह करते मुख्यमंत्री को स्थिति पर तुरंत काबू करना चाहिए अन्यथा गुर्जर आंदोलन दिल्ली और अन्य शहरों में भी फैल सकता है।ड्ढr इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पुलिस फायरिंग में गुर्जर आंदोलनकारियों के मारे जाने से उत्पन्न स्थिति का जायजा लेने के लिए राजस्थान मामलों के प्रभारी महासचिव मुकुल वासनिक की अध्यक्षता में चार सदस्यों की टीम गठित की है। टीम के अन्य सदस्यों में राजस्थान के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के समन्वयक चौधरी वीरेंद्र सिंह, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सी.पी. जोशी तथा कांग्रेस विधायक दल के नेता हेमाराम चौधरी शामिल हैं। कांग्रेस की प्रवक्ता जयंती नटराजन के अनुसार यह टीम विशेष रूप से उन क्षेत्रों में जाएगी जहां पुलिस की गोलीबारी में आंदोलनकारी मारे गए हैं। पूरी स्थिति का अध्ययन कर यह टीम श्रीमती गांधी को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बातचीत कर समस्या सुलझाएं राजे : सचिन