अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिकित्सा सेवा बाधित

ांट्रैक्ट डॉक्टरों की हड़ताल के कारण पूर राज्य में चिकित्सा सेवा बाधित है। खास कर ग्रामीण क्षेत्रों में इसका ज्यादा असर देखा जा रहा है। यहां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उप स्वास्थ्य केंद्रों पर डॉक्टर नहीं होने के कारण रोगी लौट रहे हैं। डॉक्टरों के अवकाश पर रहने के कारण प्रसव, टीकाकरण, एनएसवी सहित स्वास्थ्य संबंधित अन्य कार्यक्रम प्रभावित हो रहे हैं। कई अस्पतालों में दो-तीन डॉक्टर सभी रोगियों का बोझ संभाल रहे हैं। उधर, राजधानी रांची के सिविल सर्जन डॉ एसएस सिंह ने सदर अस्पताल में स्थिति सामान्य बताया है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों की वैकल्पिक व्यवस्था की गयी है। पीएससी से आठ डॉक्टर बुलाये गये हैं। इनकी डय़ूटी खूंटी, बुंडू, ओरमांझी, डोरंडा, बेड़ो में दी गयी है। कांके, नामकुम एवं रातू में पहले ही डॉक्टरों की व्यवस्था कर दी गयी है। स्थिति पर पूरी तरह नजर रखी जा रही है। उधर, डॉ विमलेश सिंह ने कहा कि सभी जिलों में हड़ताल प्रभावी है। आइएमए के प्रदेश सचिव डॉ आरसी झा ने कहा कि हड़ताल असरदार बनाने की पूरी तैयारी कर ली गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चिकित्सा सेवा बाधित