DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला अत्याचार पर अंकुम लगाने की मांग

उन्होंने महिला अत्याचार पर अंकुश लगाने के लिए सभी की सहभागिता पर जोर देते हुए आदिवासी समाज में प्रधानी प्रथा को मजबूत करने की सलाह दी। कार्यशाला को एटसेक के स्टेट कोर्डिनेटर संजय कुमार मिश्रा, मानवी के नलिनी कांत, समाजसेवी बिटिया मुमरू, एरिक्सन हांसदा, मेरीनीला मरांडी आदि ने भी संबोधित किया। कार्यशाला में महिला अत्याचार से संबंधित कुल पांच मामलों की सुनवाई की गयी। इसमें शिकारीपाड़ा में हुए अल्पसंख्यक नाबालिग लड़की हीना खातून के साथ बलात्कार और हत्या के मामले को उन्होंने गंभीरता से लेते हुए पुलिस को कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महिला अत्याचार पर अंकुम लगाने की मांग