DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

20 बाल श्रमिक मुक्त

श्रम संसाधन सचिव द्वारा गठित विभाग के धावा दल ने बुधवार को राजधानी के विभिन्न इलाकों में छापेमारी कर 20 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया। जिन क्षेत्रों से बाल श्रमिक मुक्त कराया गया है उनमें अशोक राजपथ, कंकड़बाग, पटना सिटी, फुलवारीशरीफ, बोरिंग रोड शामिल हैं। यह जानकारी विभाग के जनसंपर्क पदाधिकारी दीपेन्द्र भूषण ने दी। छापेमारी के दौरान अशोक राजपथ एवं कंकड़बाग में हड़कंप मच गया। होटलों के मालिक बाल श्रमिकों को देने में आनाकानी कर रहे थे।ड्ढr ड्ढr श्री भूषण ने बताया कि छापेमारी के बाद बाल श्रमिकों को मुक्त कराकर समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित अपना घर में रखा गया है। साथ ही, इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई के लिए वरीय पदाधिकारी को निर्देशित किया गया है। अधिकारियों का कहना है कि यह अभियान जारी रहेगा। श्री भूषण ने बताया कि घरलू बाल श्रमिकों से काम लेने वाले दोषी नियोजकों को 14 दिनों के अन्दर 20 हजार रुपए क्षतिपूर्ति के अलावा उन्हें सरकार द्वारा निर्धारित दर से कम मजदूरी देने की स्थिति में बाल श्रमिकों को देय बकाया राशि का भी भुगतान करना पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 20 बाल श्रमिक मुक्त