DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोरियां रोकने को हरिकीर्तन का सहारा

राम नाम का सहारा लेकर चोरों के हृदय परिवर्तन की अनूठी कोशिश में लगे हैं बंशवर गांव के ग्रामीण। गर्जन ब्रह्म स्थान से लगातार चापाकलों की चोरियों से आजीज आ चुके ग्रामीणों ने अंतत: तरकीब निकाली और ‘गांधीगिरी’ के गंवई स्वरुप में हरिकीत्तर्न के आयोजन की ठानी।ड्ढr ड्ढr बुधवार को ग्रामीणों 24 घंटों के अखंड हरिकीर्तन की शुरुआत की। ग्रामीणों का मानना है कि इससे चोरों का हृदय परिवर्तन होगा और उक्त ब्रह्म स्थान से चोरियों का सिलसिला खत्म हो जाएगा। गर्जन ब्रह्म स्थान के प्रति बंशवर गांव के लोगों की अटूट आस्था है। ग्रामीण छोटक, परमानंद, रामकृष्ण पांडेय आदि ने बताया कि उक्त ब्रह्म स्थान से लगातार तीन चापाकल एक-एक कर चोरी हो गए। अंतत: आजीज आकर गांव के बड़े-बुजुर्गो की बैठक की गयी और फैसला लिया गया अखंड हरिकीर्तन के आयोजन का। उनका मानना है कि हरिकीर्तन के प्रभाव से चोरों का हृदय अवश्य परिवर्तित होगा और ब्रह्म स्थान मंदिर से चोरियां रुक जाएंगी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चोरियां रोकने को हरिकीर्तन का सहारा