अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मांगों को लेकर किसी हद तक जाने को तैयार

झारखंड राज्य पेयजल एवं स्वच्छता विभाग कर्मचारी संघ का चौथा राज्य सम्मेलन रविवार को हिनू स्थित यूनाइटेड स्कूल परिसर में आयोजित किया गया। सम्मेलन का उद्घाटन एआइसीसीटीयू के राज्य सचिव सुवेंदु सेन ने किया। उन्होंने कहा कि मंदी के नाम पर सरकारी कर्मचारियों का छठा वेतन लागू नहीं किया गया। यह कर्मचारियों के साथ ज्यादती है। उन्होंने केंद्र की नीति के बार में विशेष जानकारी दी। राज्य अध्यक्ष सोमर उरांव ने कहा कि कर्मचारियों की मांग को लेकर संघ बहुत दिन से आंदोलनरत है। लेकिन सरकार मांगों को लेकर कभी गंभीर नहीं रही। कर्मचारियों की जायज मांगें अब नहीं मानी गयीं, तो संघ किसी भी हद तक जा सकता है। उन्होंने मास्टर रोल पर कार्यरत कर्मचारियों को नियमित करने, 6652 पदों को नियमित करने, प्रोन्नति श्रंखला का निर्माण, केंद्र के अनुसार एसीपी लाभ, आवश्यक सेवा के तहत कर्मचारियों को लाभ उपलब्ध कराने की मांग की। साथ ही आउटसोर्सिग के माध्यम से काम का बंटवारा न करने का सरकार से आग्रह किया। सम्मेलन में राज्य के सभी जिलों से आये प्रतिनिधि शामिल हुए। सम्मेलन को महेश कुमार सिंह, तारणी प्रसाद कामत, सिद्धेश्वर सिंह, सुशीला तिग्गा, गोपाल शरण सिंह आदि ने संबोधित किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मांगों को लेकर किसी हद तक जाने को तैयार