अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुप्त मतदान से समितियों के पुनर्गठन की वकालत

सीटू ने कामगारों के गुप्त मतदान के जरिये जेबीसीसीआइ और कंपनी स्तर की सभी द्विपक्षीय समितियों के पुनर्गठन की वकालत की है। संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ एमके पंधे ने कोल इंडिया चेयरमैन को इस संबंध में पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि ऐसा करने पर सीटू को अत्यधिक खुशी होगी। संगठन काफी पहले से यह मांग करती रही है। कामगार ही समितियों का संचालन स्वतंत्र रूप से करं।ड्ढr सीटू ने अंतरिम राहत बढ़ाने पर विचार करने के चेयरमैन के बयान का स्वागत किया है। हालांकि यह बात जेबीसीसीआइ में नहीं कर बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व में गये शिष्टमंडल को कहने पर दुख जताया है। डॉ पंधे ने उन सभी मुद्दों पर अधिकारिक स्पष्टीकरण की मांग की है, जिस पर शिष्टमंडल से वार्ता की और आश्वासन दिया। उनके मुताबिक वार्ता में ऐसे मुद्दों पर टिप्पणी की गयी है, जिन पर उचित फोरम में चर्चा की मांग सीटू करते रहा है। इसमें महंगाई भत्ते पर आइआर देना, अधिकारी-कर्मचारी के वेतन में उचित अनुपात बनाये रखना और कामगारों को समिति में जगह देना शामिल है। दस साल के वेतन समझौते के प्रति सहमति व्यक्त करने को अपरिपक्व करार दिया है।ड्ढr यूनियन की सभाड्ढr आइआइसीएम इंप्लाक्ष यूनियन की आमसभा बुधवार को संस्थान गेट के समक्ष हुई। इसमें संगठन के एचएमएस से हटने और सीटू के संबद्ध होने की घोषणा की गयी। यूनियन के नूर आलम ने बताया कि गैर कानूनी ढंग से बर्खास्त किये गये श्रमिकों को वापस लेने के लिए अब नये सिर से पहल होगी। इस मौके पर सीटू के मिहिर चौधरी, बी सत्यनारायण, आरपी सिंह, अशोक सिंह, अमित राय और यूनियन के रवींद्रनाथ राक, जग्गा महतो, मुकेश वर्मा, अनिल यादव मौजूद थे।ड्ढr अधिवेशन पांच कोड्ढr सीसीएल कोलियरी कर्मचारी संघ का वार्षिक अधिवेशन पांच जून को कथारा आफिसर्स क्लब में होगा। महामंत्री जीतेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि इसमें कार्यसमिति का पुनर्गठन किया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गुप्त मतदान से समितियों के पुनर्गठन की वकालत