अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-चीन में होगी फिंगर एरिया पर बात

विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी की चीन यात्रा के दौरान होने वाली बातचीत में चीन द्वारा सिक्िकम के फिंगर एरिया में सीमा पर की गई छेड़-छाड़ का मुद्दा उठ सकता है। मुखर्जी 4 जून से चीन की यात्रा पर जा रहे हैं। उम्मीद है कि चीन के विदेश मंत्री यांग जेइची के साथ बातचीत में भारत के विदेश मंत्री साफ करेंगे कि फिंगर एरिया भारत का अंग है और वह इसके प्रमाण भी देंगे। सीमा विवाद सुलझाने के लिए विशेष प्रतिनिधियों की 11 दौर की बैठकों में हुई प्रगति की भी समीक्षा होगी और यह प्रयास किया जाएगा कि इसे और आगे बढ़ाया जाए। मुखर्जी चीनी विदेश मंत्री के निमंत्रण पर चार से सात जून तक चीन की यात्रा पर जा रहे हैं। सीमा मुद्दे पर 2005 में हुई सहमति के आधार पर वार्ता होने की आशा है। दोनों पक्ष आर्थिक, क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे। भारत और चीन के बीच 2010 तक 60 अरब डालर तक द्विपक्षीय व्यापार करने का लक्ष्य रखा गया है। बातचीत में प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह की गत 13 से 15 जनवरी की चीन यात्रा के दौरान किए गए फैसलों पर हुई प्रगति पर बातचीत होगी। मुखर्जी से पहले राजग सरकार के दौरान 2002 में भारत के विदेश मंत्री ने चीन की यात्रा की थी। मुखर्जी गुआंगझाओ में नए वाणिय दूतावास का उद्घाटन भी करेंगे। विदेश मंत्री चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ से भी भेंट करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत-चीन में होगी फिंगर एरिया पर बात