DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉलीटेक्िनक रिचाल्ट भी रिकार्ड समय में

राज्य सरकार ने पॉलिटेक्िनक परीक्षाफल भी रिकार्ड समय (25 दिन में) में जारी कर दिया है। त्रिवर्षीय पॉलिटेक्िनक पाठ्यक्रम के सत्र 2003-04 की अंतिम परीक्षा में शामिल कुल 1734 परीक्षार्थियों में 83 फीसदी (1440) छात्र सफल घोषित किये गये हैं। 15 अप्रैल से 3 मई तक चली परीक्षा के दौरान सहरसा केन्द्र की परीक्षा रद्द कर दी गई थी जिसके कारण नियमों के मुताबिक उस केन्द्र के सभी 16.ीसदी (2छात्र फेल घोषित किये गये हैं। प्रथम श्रेणी में विशिष्टता प्राप्त छात्रों का प्रतिशत 7.2 (125) है। 75.5 फीसदी (1310) छात्र प्रथम श्रेणी से सफल हुए हैं जबकि द्वितीय श्रेणी प्राप्त छात्रों का प्रतिशत मात्र 0.28 (5) है। विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री शाहिद अली खान ने गुरुवार को परीक्षाफल जारी किया।ड्ढr ड्ढr परीक्षाफल जारी करने वाले राज्य प्रावैधिक शिक्षा पर्षद के सचिव श्रीभगवान सिंह ने कहा कि बोर्ड की वेबसाइट ‘डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू. एसबीटीई बिहार. ओआरजी’ पर भी परीक्षाफल उपलब्ध करा दिया गया है। उन्होंने कहा कि पॉलिटेक्िनक परीक्षा की पुनर्परीक्षा लेने का प्रावधान नहीं है। इसलिए सहरसा केन्द्र की रद्द परीक्षा के लिए पूरक परीक्षा का कार्यक्रम भी तुरंत घोषित कर दिया गया है। 4 जुलाई तक फार्म जमा करने की अंतिम तिथि है और 14 जुलाई से पूरक परीक्षा होगी। श्री सिंह ने कहा कि सत्र 2003-04 के छात्रों का नामांकन नवम्बर 2005 में हुआ था। वर्ष के हिसाब से नामांकन सत्र दो वर्ष देर से चल रहा है। ऐसी स्थिति में तय समय पर परीक्षा आयोजित कर राज्य प्रावैधिक शिक्षा पर्षद ने परीक्षाफल रिकार्ड समय में जारी किया है। अभी सूबे में 13 पॉलिटेक्िनक हैं जिसमें 1डिप्लोमा विषयों की पढ़ाई होती है। उन्होंने बताया कि कैम्पस सलेक्शन होने से छात्रों में काफी उत्साह है। अन्य राज्यों की तरह यहां भी कई मल्टीनेशनल कंपनियां जिनमें दूरसंचार कंपनियां की संख्या अधिक है, सरकारी पालिटेक्िनकों से छात्रों को चुन रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पॉलीटेक्िनक रिचाल्ट भी रिकार्ड समय में