DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मविवि के कालेज होंगे हाईटेक

मगध विश्वविद्यालय के सभी कालेजों का अपना बेवसाइट होगा तथा अगले कुछ दिनों में सारे कालेज इंटरनेट के द्वारा विवि मुख्यालय से जुड़ जाएंगे। प्रथम चरण में सभी अंगीभूत कालेजों में वीडियो कांफ्रेंसिंग की सुविधा बहाल कर दी जाएगी। गुरुवार को मविवि मुख्यालय तथा शाखा कार्यालय पटना के बीच वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा वार्तालाप की शुरूआत की गई। बिहार के राज्यपाल सह कुलाधिपति के निर्देशानुसार 31 मई तक सभी कालेजों में आटोमेशन का कार्य पूर्ण कर लेना था। आज उसी संदर्भ में मविवि के सभी अंगीभूत कालेजों के प्राचार्यो की यहां बैठक हुई।ड्ढr ड्ढr बैठक में कालेज प्राचार्यो से आटोमेशन कार्य की प्रगति रिपोर्ट तथा उसमें हो रहे विलंब का कारण की जानकारी ली गई। बैठक का संचालन कर रहे कुलसचिव डा. डी के यादव ने बताया कि कुलाधिपति के निर्देशानुसार मविवि मुख्यालय तथा शाखा कार्यालय पटना को वीडियो कांफ्रेंसिंग से जोड़ दिया गया तथा कालेजों को जोड़ने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके लिए सभी कालेजों के साफ्टवेयर तथा सीडी तैयार करके दिया गया है।ड्ढr उन्होंने बताया कि सभी कालेजों का अपना बेवसाइट होगा और वे इंटरनेट के द्वारा विवि मुख्यालय से जुड़ जाएंगे। कालेजों में वीडियो कांफ्रेंसिंग की भी व्यवस्था की जा रही है ताकि किसी भी वक्त उक्त कालेजों की स्थिति और शैक्षणिक वातावरण समेत अन्य जानकारियां प्राप्त किया जा सके ।इसके लिए विश्वविद्यालय मुख्यालय द्वारा तकनीकी सहयोग भी दिया जाएगा तथा बेवसाइट खोले जाने से विद्यार्थियों को भी सहुलियत होगी। बैठक में कालेज प्राचार्यो तथा उनके प्रतिनिधियों को आटोमेशन (कम्प्यूटर राइज्ड) के विकास तथा उससे होने वाले फायदे की जानकारी उपलब्ध कराई गई। बैठक में कुलपति डा. बी एन पांडेय भी उपस्थित थे। कुंवर सिंह विवि में होगी नए विषयों की पढ़ाईड्ढr सासाराम (ए.प्र.)। वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में बायोटेक्नोलॉजी व एमबीए एग्रीकल्चर की पढ़ाई होगी। विश्व विद्यालय में विज्ञान भवन व महिला छात्रावास का निर्माण कराया जायेगा। उक्त बातें यहां शेरशाह कॉलेज परिसर में विश्वविद्यालय सिंडिकेट की बैठक के पश्चात कुलपति प्रो. रामपाल सिंह ने गुरुवार को कही। सिंडिकेट की बैठक विश्वविद्यालय से इतर जगह करने पर उन्होंने कहा कि ऐसा कोई पहली बार नहीं हुआ है। हमारी कोशिश होगी कि सिंडिकेट की प्रत्येक बैठक अलग-अलग स्थान पर हो, जिससे कॉलेजों पर इसका असर पड़ेगा। जिले में विश्वविद्यालय का क्षेत्रीय कार्यालय खोलने की विद्यार्थी परिषद की मांग पर कुलपति ने कहा कि संसाधनों की कमी के कारण क्षेत्रीय कार्यालय खोलना संभव नहीं है।ड्ढr जिले के इतिहास में पहली बार वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय सिडिंकेट की बैठक शेरशाह कॉलेज में गुरुवार को हुई। कुलपति प्रो. रामपाल सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में विभिन्न विषयों पर विचार किया गया। बैठक के पश्चात कुलपति ने बताया कि वित्त समिति की कार्यवृत के अनुमोदन के बाद कई विषयों पर विचार-विमर्श किया गया। लेकिन कोई खास निर्णय नहीं लिया जा सका। बैठक से पूर्व कॉलेज परिसर में नव निर्मित प्रधानाचार्य कक्ष का उद्घाटन कुलपति ने किया। इस मौके पर प्राचार्य प्रो. धर्मराज सिंह, डा. सत्यनारायण शर्मा, प्रो. सुभाष यादव इत्यादि कई लोग उपस्थित थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मविवि के कालेज होंगे हाईटेक