अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फेल होने पर दो छात्रों ने जान दी

मैट्रिक की परीक्षा में असफल होने से दुखी एक छात्रा ने जहर खाकर अपनी जान दे दी। छात्रा टिकारी के रानीगंज मुहल्ले की रहने वाली थी। वह ठाकुर मुनेश्वरनाथ सिंह उच्च विद्यालय (टिकारी) में पढ़ती थी। मृतका के अभिभावकों ने बताया कि निखत प्रवीण पढ़ने में अच्छी थी। कतिपय कारणों से बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित मैट्रिक की परीक्षा में फेल कर गई।ड्ढr ड्ढr उधर अमनौर (सारण) प्रखंड के विशुनपुरा गांव के 18 वर्षीय छात्र जितेन्द्र गिरि ने इंटर कला की परीक्षा में फेल होने पर जहर खाकर आत्महत्या कर ली। मृतक परशुराम गिरि का पुत्र व देवराहा बाबा इंटर कालेज भेल्दी का छात्र था। गुरुवार को बेहोशी की हालत में उसे इलाज हेतु सदर अस्पताल में लाया गया जहां गंभीर स्थिति देख डाक्टर ने पटना रफर कर दिया किंतु दिघवारा पहुंचने पर ही उसकी मौत हो गई। अपहर पंचायत के मुखिया योगेन्द्र साह ने यह जानकारी दी।ड्ढr बैंक मैनेजर गिरफ्तार, बीडीओ फरार हैं।ड्ढr पीजी परीक्षार्थियों ने हंगामा मचायाड्ढr आरा (ए.प्र.)। वीर कुंवर सिंह विवि के पीजी अंतिम वर्ष की परीक्षा में गणित के प्रश्न पत्र में हिन्दी विषय का प्रश्न पूछे जाने पर परीक्षार्थी भड़क गए। परीक्षार्थियों ने हंगामा मचाते हुए परीक्षा का बहिष्कार कर दिया वहीं विवि ने अपनी गलती स्वीकारते हुए परीक्षा को रद्द कर दिया है। विवि के पदाधिकारियों ने गणित की परीक्षा की तिथि तत्काल घोषित किए जाने की बात कही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जन कॉलेज केन्द्र पर आयोजित स्नातकोत्तर की परीक्षा में सोमवार को गणित विषय की परीक्षा थी। परीक्षा शुरू होते ही जसे ही गणित का प्रश्न पत्र बांटा गया परीक्षार्थी उसे देखते ही भड़क गए। प्रश्न पत्र में आधे सवाल हिन्दी विषय से पूछे गए थे जिसे देखते ही परीक्षार्थी चकरा गए। परीक्षार्थियों ने हंगामा करते हुए परीक्षा का बहिष्कार कर दिया। विवि के परीक्षा नियंत्रक केडी तिवारी ने प्रश्न पत्र की छपाई में त्रुटि की बात स्वीकारते हुए परीक्षा को रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि परीक्षा की अगली तिथि की घोषणा शीघ्र की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फेल होने पर दो छात्रों ने जान दी