DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस ने डाली नन्हीं कलाई में हथकड़ी

अपराध चोरी का लेकिन बर्ताव बड़े अपराधी की तरह। गुरूवार को पुलिस बाल कैदी हरिशंकर कुमार के हाथों में हथकड़ी डाल कर अदालत में पेशी के लिए लायी थी। नन्हीं कलाई में हथकड़ी डाल कर एक वार फिर पुलिस ने अपनी क्रुरता का परिचय दिया। सुप्रीम कोर्ट के अनुसार बाल कैदी को हथकड़ी लगाना न्यायसंगत नहीं है। इसके बावजूद पुलिस ने निर्देशों की खुलेआम अवहेलना करते हुए चोरी के आरोप में गिरफ्तार हरिशंकर कुमार को हथकड़ी डाल कर न्यायालय लाई।ड्ढr ड्ढr राजाबाजार निवासी वर्ग -6 में पढ़ने वाला हरिशंकर को चोरी के मामले में पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया था। 14 फरवरी को बाजार समिति के कार्यालय में चोरी की एक घटना हुई थी। इस संदर्भ में एसडीओ ने नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी। पुलिस ने हरिशंकर के घर से चोरी का एक पंखा बरामद किया था। पुलिस को दिए बयान में हरिशंकर ने स्वीकार किया था कि शैलेश कुमार नामक एक युवक उसे झांसा देकर ले गया था। उसने कृषि कार्यालय का ताला तोड़कर चार पंखा चुराये थे जिसमें उसे भी एक पंखा हिस्से में मिला था। बाद में कोर्ट ने उक्त बाल कैदी को बाल सुधार गृह भेजने का निर्देश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिस ने डाली नन्हीं कलाई में हथकड़ी