अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जूही के भाई बन सकते हैं तेल सचिव

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पेट्रोल की कीमतें लगातार बढ़ते जाने और देश में तेजी से बढ़ती खपत को देखते हुए पेट्रोलियम सेक्रेटरी का पद बेहद अहम हो गया है। इस पद के लिए उड्डयन सचिव अशोक चावला से लेकर अनिल राजदान का नाम खासतौर पर लिया जा रहा है। उनके अलावा इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के अध्यक्ष सार्थक बेहुरिया भी दौड़ में हैं। वर्तमान पेट्रोलियम सेक्रेटरी एम.श्रीनिवासन आगामी 31 जुलाई को रिटायर हो रहे हैं। सरकार नए पेट्रोलियम सेक्रेटरी के नाम पर मोहर लगाने से पहले यह पक्के तौर पर देख लेना चाहेगी कि यह पद उसी की झोली में जाए जिसे इस क्षेत्र का गहरा अनुभव हो। सूत्रों का कहना है कि ताजा स्थिति यह है कि पेट्रोलियम सचिव की दौड़ में अशोक चावला सम्भवत: सबसे आगे हैं। वे पहले भी इस मंत्रालय में रह चुके हैं। गुजरात कैडर के आईएएस अधिकारी चावला मशहूर फिल्म अभिनेत्री जूही चावला के बड़े भाई हैं। दिल्ली के प्रतिष्ठित मॉडर्न स्कूल और सेंट स्टीफंस कालेज के पूर्व छात्र चावला रिलायंस ग्रुप के अधिग्रहण से पहले इंडियन पेट्रो केमिकल्स लिमिटेड (आईपीसीएल) के भी प्रमुख रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि हाल के सालों में पेट्रोलियम सेक्टर में मित्तल, रिलायंस, अडानी जसी बड़ी कंपनियों के आने के बाद इसका सचिव पद पहले की अपेक्षा कहीं अधिक महत्वपूर्ण हो गया है। चावला के साथ-साथ ऊर्जा सचिव अनिल राजदान के बारे में कहा जा रहा है कि वे प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह के पसंदीदा अधिकाारियों में से हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जूही के भाई बन सकते हैं तेल सचिव