अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरुषि-हेमराचा हत्याकांड में पुलिस खाली हाथ

बहुचर्चित आरुषि-हेमराज दोहरे हत्याकांड की विसरा रिपोर्ट आ गई है। इसमें किसी तरह के नशीले पदार्थ या रसायन के इस्तेमाल के लक्षण नहीं मिले हैं। इस रिपोर्ट ने पुलिस की उस थ्योरी को भी गलत ठहरा दिया है,ोिसमें कहा गया था कि मौत से पहले दोनों बेसुध थे इसलिए उन्होंने किसी तरह का प्रतिरोध नहीं किया। पुलिस अब तक हत्या में इस्तेमाल हथियार व अन्य साक्ष्य भी नहींोुटा पाई है।ड्ढr शुक्रवार को पुलिस रिमांड पूरी होने पर कोर्ट ने डॉ. राोश तलवार को छहोून तक की न्यायिक हिरासत में ो दिया है। इससे पहले पुलिस डॉ. तलवार को हरिद्वार लाई और आरुषि के अस्थि-विसर्जन के बारे में पंडितों से पूछताछ की। यहाँ भी पुलिस के हाथ कुछ खास नहीं लगा। डॉ. राोश तलवार के नारको टेस्ट के लिए पुलिस के प्रार्थनापत्र पर न्यायालय में दोोून को सुनवाई होनी है।ड्ढr नोएडा पुलिस ने पहले आशंकाोाहिर की थी कि हत्या से पहले आरुषि और हेमराा ने प्रतिरोध नहीं किया था। पुलिसिया थ्योरी थी कि या तो उन्हें कोई नशीला पदार्थ या बेहोशी की दवा दी गई पर कोर्ट में पेश विसरा रिपोर्ट से साफ होड्ढr गया है कि ऐसा नहीं हुआ। सूत्रोंड्ढr के मुताबिक हेमराा के दाँतों के बीच मांस के टुकड़े भी मिले हैंड्ढr ाो संभवत: हत्यार के हों। ऐसा इसलिए संभव है कि हमलावर से बचाव के दौरान हेमराा ने शायद उसे काटा हो।ड्ढr इस बीच राष्ट्रीय महिला आयोग ने कहा कि वह यूपी पुलिस के अफसरों को तब तक समन नहींोारी करगीोब तक मामले कीोाँच पूरी नहीं होोाती। इससे पहले महिला आयोग की सदस्य निर्मला वेंक टेश व अधिवक्ता स्वीटी सूद ने डॉ तलवार की पत्नी डॉ नूपुर से मुलाकात की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आरुषि-हेमराचा हत्याकांड में पुलिस खाली हाथ