DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेठी सीट पर रहेगी सबकी नजर

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए 15 लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार सोमवार की शाम को बंद हो गया। इन सीटों पर सात मई को निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान सम्पन्न करवाने के लिए पोलिंग पार्टियों और सुरक्षा बलों की रवानगी भी शुरू हो गई।


 इन पन्द्रह सीटों पर खड़े उम्मीदवारों के आपराधिक रिकार्ड और उनके शपथ पत्रों में घोषित मुकदमों के विश्लेषण के लिहाज से देखें तो इन पन्द्रह सीटों में से दस सीटें रेड अलर्ट यानि संवेदनशील घोषित की गई हैं। चुनाव सुधारों के लिए सक्रिय एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफाम्स (एडीआर ) और यूपी इलेक्शन वाच की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार इन दस संवेदनशील  सीटों में से  संतकबीरनगर में कुल 25 उम्मीदवारों में छह ऐसे हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं।

सियासी नुक्तेनजर से जहां एक तरफ अमेठी में कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रधानमंत्री पद के दावेदार माने जा रहे राहुल गांधी, आम आदमी पार्टी के डा.कुमार विश्वास और भाजपा की स्मृति ईरानी से मुकाबिल हैं तो वहीं दूसरी तरफ सुल्तानपुर में भाजपा के चर्चित चेहरे फिरोज वरुण गांधी, बसपा से पवन पाण्डेय, सपा से शकील अहमद और कांग्रेस से अमिता सिंह का सामना कर रहे हैं। सुल्तानपुर में कुल 15 उम्मीदवार मैदान में हैं। प्रतापगढ़ में भी 15 प्रत्याशी हैं। यहां कांग्रेस की निवर्तमान सांसद राजकुमार रत्ना सिंह का मुकाबला अपना दल के कुंवर हरिवंश सिंह, सपा के  प्रमोद कुमार सिंह पटेल और    बसपा के आसिफ निजामुद्दीन सिद्दीकी  से है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेठी सीट पर रहेगी सबकी नजर