अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नरंद्र और फाल्गुनी के कलह में फंसे प्रेम

ाब पथ मंत्री पैदल ही चल पड़े सीएम हाउसड्ढr नरन्द्र-फाल्गुनी प्रकरण के दौरान पथ निर्माण मंत्री डा. प्रेम कुमार की मौजूदगी उनके लिए खासी परशानी का सबब बन गया है। इस कार्यक्रम में मंत्री नरन्द्र सिंह और विधायक फाल्गुनी प्रसाद यादव मंच पर ही भिड़ गए थे। भाजपा विधायक होने के नाते डा. कुमार पर जहां इस मामले में पार्टी और विक्षुब्धों का भारी दबाव है वहीं मंत्री होने के नाते गठबंधन धर्म के पालन में भी उनकी भूमिका महत्वपूर्ण हो गई है। शनिवार को इसी मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनको सुबह-सवेर अपने निवास पर तलब किया। जानकारी के मुताबिक डा. कुमार रात को 2 बजे जमुई से लौटे थे और थोड़ी देर की ही झपकी ले पाए थे कि 1, अणे मार्ग से अचानक उनका बुलावा आ गया। तब उनके बंगले पर ड्राइवर भी नहीं था। खुमारी में ही वह थे कि उसी बीच कुछ क्षणों के ही अंतराल पर मुख्यमंत्री आवास से फिर दो बार फोन आ गया। इससे साफ था कि मुख्यमत्री काफी बेसब्री से उनका इंतजार कर रहे थे। मंत्री कपड़ा पहनते हुए पैदल ही मुख्यमंत्री आवास की तरफ चल दिए। बताया जाता है कि उन्होंने अपने सामने हुई इस घटना का विस्तार से ब्योरा दिया जिसे मुख्यमंत्री ने पूरी गंभीरता से सुना। मेरी मौत के बाद ही नरंद्र से संघि:फाल्गुनीड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। भाजपा विधायक फाल्गुनी प्रसाद यादव ने कहा है कि खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री नरन्द्र सिंह से समझौता अब उनके मरने के बाद ही संभव है। उनके जीते जी एक हत्यारा और गुंडा तत्व से कोई सुलह-सफाई नहीं हो सकती। बलथर की घटना के बाद से शारीरिक और मानसिक कष्ट झेल रहे श्री यादव ने मंत्री से अपनी जान को खतरा बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को ऐसे व्यक्ित को अपनी टीम से हटा देना चाहिए। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी से भी उन्होंने यह मुद्दा मुख्यमंत्री के सामने रखने को कहा है और यदि दहशत एवं हत्या की राजनीति करने वाले श्री सिंह को मंत्रिमंडल से बाहर नहीं किया जाता है तो भाजपा के सभी मंत्री सरकार से बाहर निकल जाएं या फिर मोदी उनको ही इजाजत दें कि वह विधायक पद से इस्तीफा दे दें। श्री यादव ने शनिवार को ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में कहा कि बाप-बेटा दोनों ने मिलकर उनकी मूड़ी पकड़कर मंच से नीचे धकेल दिया और मामले को मैनेज करने के चक्कर में श्री सिंह अब गलथेथरई कर रहे हैं। श्री यादव ने कहा कि यदि उनकी बात पर विश्वास न हो तो कार्यक्रम में मौजूद पथ निर्माण मंत्री प्रम कुमार, कई जद यू-भाजपा नेता और हजारों लोगों से पूछ लिया जाए। वह पीएमसीएच के आईसीयू में असह्य पीड़ा झेल रहे हैं। उनकी एड़ी में हेयर क्रैक है और डाक्टरों ने कंप्लीट बेडरस्ट के लिए कहा है। फाल्गुनी ईष्र्या के शिकार:नरंदड्र्ढr पटना (हि.ब्यू.)। खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री नरन्द्र सिंह ने कहा है कि भाजपा विधायक फाल्गुनी प्रसाद यादव उनके प्रति ईष्र्या, जलन और कुंठा के शिकार हैं। श्री यादव क्षेत्र में उनकी लोकप्रियता से जलते हैं और राजनीतिक बदले की भावना से अनाप-शनाप आरोप लगाते रहते हैं। वह जब भी श्री यादव के क्षेत्र में जाते हैं उनके पेट में दर्द होने लगता है। श्री सिंह ने शनिवार को कहा कि फाल्गुनी व्यक्ितगत दुश्मनी पर उतर गए हैं और सत्तारूढ़ भाजपा-जद यू गठबंधन को बदनाम करने पर तुले हैं। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर जानकारी लेने के लिए मुख्यमंत्री ने उनको बुलाया था। उन्होंने पूर घटनाक्रम से उनको अवगत करा दिया है। घटनाक्रम की बाबत श्री सिंह का कहना है कि समारोह में जब श्री यादव उन पर आरोप लगाते हुए सार विकास कार्यो का श्रेय खुद लेने लगे तो उनके समर्थक नाराज हो गए और मंच की तरफ बढ़ने लगे। इस पर उन्होंने उनको माइक लेकर शांत कराने की कोशिश की। चूंकि माइक श्री यादव के हाथ में था और वह उसे छोड़ना नहीं चाह रहे थे। इसी क्रम में श्री यादव मंच से खुद ही नीचे गिर पड़े।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नरंद्र और फाल्गुनी के कलह में फंसे प्रेम