अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल पर सरकार का फैसला आज

थायी नियुक्ित की मांग और सरकार की वादाखिलाफी के विरोध में आंदोलनरत कांट्रैक्ट डॉक्टर 31 मई की आधी रात से बेमियादी हड़ताल पर चले गये। कांट्रैक्ट डॉक्टरों के समर्थन में आइएमए के आह्वान पर शनिवार को पूर राज्य के निजी क्लीनिक बंद रहे।ड्ढr इमरोंसी को छोड़ आउटडोर सेवाएं ठप रहीं, जिससे पूर राज्य की चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गयी। उधर स्वास्थ्य मंत्री भानू प्रताप शाही ने कहा कि डॉक्टरों की हड़ताल के मामले पर रविवार को सरकार निर्णय लेगी। उन्हें काम पर लौटने के लिए 31 मई तक का समय दिया गया था। निर्धारित अवधि तक काम पर न लौट कर डॉक्टरों ने सरकार के आदेश के खिलाफ जाने की हिम्मत जुटायी है। वे रविवार को विभागीय सचिव से इस मुद्दे पर चर्चा करने के बाद ही कोई निर्णय लेंगे। मुख्यमंत्री भी खुद इस मामले को करीब से देख रहे हैं।ड्ढr वैसे शहरों में डॉक्टरों की हड़ताल का मिलाजुला असर रहा, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा व्यवस्था ठप रही। छोटे शहरों में तो इमरोंसी सेवा भी प्रभावित दिखी।ड्ढr मेडिकल कॉलेजों में हड़ताल का प्रभाव नहीं दिखा, जबकि कांट्रेक्ट डॉक्टर संघ ने मेडिकल कॉलेजों में भी हड़ताल प्रभावी रहने का दावा किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हड़ताल पर सरकार का फैसला आज