अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुर्जर आंदोलनकारियों के शवों का पोस्टमार्टम शुरू

राजस्थान में गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दौरान गत 23 मई को भरतपुर जिले के बयाना खंड में पीलूकापुरा-करवाड़ी रेलवे ट्रेक के पास पुलिस फायरिंग में मारे गए 16 लोगों के शवों का पोस्टमार्टम भारी कश्मकश के बाद रविवार अपरान्ह आंदोलनकारियों के पड़ाव स्थल पर आरंभ किया गया। बयाना में कैम्प कर रहे जल संसाधन विभाग के प्रमुख शासन सचिव एसएन थानवी ने बताया कि गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला और राय सरकार की सहमति के बाद भरतपुर के राजकीय अस्पताल में रखे चार शवों को पीलूकापुरा लाया गया। फायरिंग के बाद आंदोलनकारी 12 शवों के साथ रेलवे ट्रेक के पास डटे हुए हैं। उन्होंने बताया कि तीन-तीन सदस्ईय मेडिकल बोर्ड तीन कैबिनों में इन शवों के पोस्टमार्टम में जुटे हुए है। इस बोर्ड में मेडिकल यूरिस्ट के अलावा गुर्जर समुदाय के दो-दो चिकित्सक शामिल हैं। मृतकों के परिजन भी पोस्टमार्टम के समय उपस्थित हैं। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि गुर्जर नेताआें से बातचीत के लिए सरकारी स्तर पर मसौदा तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार गुर्जर नेताआें से बराबर सम्पर्क में है। उधर भरतपुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद विश्वेन्द्र सिंह कर्नल बैंसला से मिलने के लिए रविवार को जयपुर से रवाना हुए। आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के तीन प्रतिनिधि भी कर्नल बैंसला से मिलने गए हैं। प्रवक्ता के अनुसार दौसा जिले के सिकन्दरा तथा जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में रखे गए शवों के पोस्टमार्टम की प्रक्रिया भी आरंभ की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गुर्जर आंदोलनकारियों के शवों का पोस्टमार्टम शुरू