अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिर आया थोक तबादले का मौसम

राज्य में फिर से तबादलों का मौसम आ गया है। मई तो जसे-तैसे गुजर गया, पर जून का मौका हाथ से जाने देने को कोई तैयार नहीं है। मंत्री से लेकर अधिकारी तक भिड़े हैं। अनुमान है कि एक हाार से अधिक कर्मचारी-अधिकारी इसकी चपेट में आयेंगे। मई में पथ निर्माण विभाग में कुछ अभियंताओं का स्थानांतरण-पदस्थापन हुआ है। भवन में भी कुछ कार्यपालक अभियंताओं को प्रभार दिया गया है। अप्रैल में पेयजल स्वच्छता विभाग में कनीय अभियंताओं का स्थानांतरण हुआ है।ड्ढr आरइओ में कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता और कनीय अभियंताओं के स्थानांतरण पर सबकी नजर है। इनकी संख्या लगभग 100 तक जा सकती है। जल संसाधन में भी सभी संवर्ग के अभियंताओं की संख्या लगभग इतनी ही हो सकती है। तीसर महत्वपूर्ण विभाग पशुपालन और कृषि में पशु चिकित्सकों, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला भूमि संरक्षण पदाधिकारी और समकक्ष पदों पर बैठे लगभग 50 अधिकारियों का स्थानांतरण तय है। पथ और भवन मिला कर लगभग 40-50 कनीय अभियंताओं का स्थानांतरण इसी दायर में हैं।ड्ढr 20-25 बीडीओ, जिला कल्याण और प्रखंड कल्याण पदाधिकारियों, आवासीय स्कूलों 40-50 प्रधानाध्यापकों का भी ट्रांसफर होना है। भू-राजस्व विभाग में भी 20-25 सीओ, परिवहन विभाग में कुछ डीटीओ, उत्पाद विभाग में कुछ इंस्पेक्टरों और सहायक उत्पाद आयुक्तों के अलावा वाणिज्य कर विभाग के लगभग 20-25 ट्रेारी अफसरों और वाणिज्य कर उपायुक्तों का स्थानांतरण भी होना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फिर आया थोक तबादले का मौसम