अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईस्कूल में मेरिट में आई रीता की परीक्षा रद

दो कॉलेाों से बोर्ड परीक्षा फार्म भरने वाली बाराबंकी की हाईस्कूल की टॉपर छात्रा रीता सिंह का नाम मेरिट सूची से हटेगा। उसकी कक्षा 10 की पूरी परीक्षा निरस्त होगी। छात्रा ने बोर्ड को गुमराह कर दो कॉलेाों से फार्म भर और अपने पिता के कॉलेा में परीक्षा दी। तथ्य को छुपाने के लिए उसने दोनों फार्मो में अपने नाम की स्पेलिंग बदल दी। माध्यमिक शिक्षा परिषद कोोाँच में वह दोषी मिली है।ोाँच अधिकारी व बोर्ड के क्षेत्रीय अपर सचिव प्रदीप कुमार ने छात्रा का अयर्थन निरस्त करने तथा सम्बंधित कॉलेा की मान्यता वापस लेने की सिफारिश की है। मेरिट सूची में 21वें स्थान पर रही करुणा के मामले में मथुरा व अलीगढ़ के डीआईओएस से रिपोर्ट माँगी गई है।ड्ढr प्रदेश में तीसरा स्थान पाने वाली बाराबंकी की छात्रा रीता सिंह ने बोर्ड परीक्षा का फार्म राम सेवक यादव स्मारक इण्टर कॉलेा लखपेड़ाबाग तथा राम सेवक यादव स्मारक इण्टर कॉलेा बाबा बार रुदौली दोनोंोगहों से भरा था। एक कॉलेा के परीक्षा फार्म में उसने अपना नाम अंग्रेाी के अक्षरों में आरआईटीए तथा दूसर में आरईईटीए लिखा था। बाबा बार रुदौली केोिस कॉलेा में रीता ने हाईस्कूल की परीक्षा दी उसके प्रबंधक उनके पिता शिवराम सिंह तथा प्रधानाचार्य उनके सगे भाई अंशुमान सिंह थे। अंशुमान परीक्षा के दौरान अतिरिक्त केन्द्र व्यवस्थापक भी थे। माध्यमिक शिक्षा परिषद को इसकी शिकायत परीक्षा परिणाम घोषित होने के तुरन्त बाद ही मिल गई थी। बोर्ड की सचिव प्रभा त्रिपाठी ने मामले कीोाँच माध्यमिक शिक्षा परिषद के क्षेत्रीय अपर सचिव प्रदीप कुमार को सौंपी थी। श्री कुमार ने रविवार को अपनीोाँच रिपोर्ट सौंप दी।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हाईस्कूल में मेरिट में आई रीता की परीक्षा रद